कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने दावा किया है कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पहले कांग्रेस में शामिल होना चाहती थीं. उन्होंने कहा कि ईरानी की शैक्षणिक योग्यता का भी पता नहीं है.

'कांग्रेस में आना चाहती थीं स्मृति ईरानी'

शुक्रवार को इंदौर में मीडिया से बातचीत में दिग्विजय सिंह ने कहा कि वे राजनीतिक दल में शामिल होने के लिए भटक रही थीं और वह कांग्रेस में शामिल होना चाहती थीं.

जेएनयू मुद्दे पर स्मृति ईरानी के भाषण पर प्रतिक्रिया देते हुए दिग्विजय सिंह ने एक बार फिर उनकी शैक्षणिक योग्यता पर सवाल उठाए हैं. दिग्विजय ने कहा कि ईरानी की शैक्षणिक योग्यता का भी पता नहीं है.

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, आरएसएस हमेशा से तिरंगे का विरोध करता रहा है. कांग्रेस के दबाव की वजह से अब उसने तिरंगा थामा है.

दिग्विजय ने मदरसों के बहाने आरएएसएस पर भी निशाना साधा.कांग्रेस महासचिव ने कहा कि मदरसों में तिरंगे का कोई विरोध नहीं है. दिग्विजय ने कहा की नागपुर में कभी भी संघ कार्यालय पर तिरंगा नहीं फहराया.

दिग्विजय सिंह ने कहा कि उन्होंने कभी केसरिया आतंकवाद की बात नहीं की है. उनके मुताबिक, केसरिया नहीं संघीय आतंकवाद है. (pradesh18)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें