नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर शनिवार को एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान एक व्यक्ति ने जूता फेंक दिया, जो उन्हें नहीं लगा। केजरीवाल पर जूता उछालने वाले व्यक्ति वेद प्रकाश ने स्वयं को आप से अलग हुए एक समूह से संबद्ध बताया।

केजरीवाल पर जूता फेंकने से पहले वेद प्रकाश ने बीजेपी नेता को किया था फोन : AAPआम आदमी पार्टी ने एक नाराजगी भरी प्रतिक्रिया जताते हुए घटना से बीजेपी को जोड़ने की कोशिश की। जूता केजरीवाल को लगा नहीं, क्योंकि एक अधिकारी ने तत्परता दिखाते हुए जूते को बीच में ही रोक लिया।

हमलावर की पहचान वेद प्रकाश के तौर पर हुई है। उसने कहा कि वह आम आदमी सेना का महासचिव है और वह मुख्यमंत्री से सीएनजी स्टिकर के वितरण में कथित अनियमितताओं में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने को लेकर नाराज था।

केजरीवाल 15 अप्रैल से शुरू होने वाले सम-विषम योजना के दूसरे चरण के बारे में जब दिल्ली सचिवालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे, तब 28 वर्षीय प्रकाश ने पहले उन्हें टोका और उसके बाद मुख्यमंत्री की ओर से एक जूता व एक सीडी फेंक दी।

प्रकाश के इस कदम से वहां हलचल मच गई। जूता केजरीवाल को लगा नहीं, क्योंकि मुख्यमंत्री के पास खड़े एक अधिकारी ने उसे तुरंत ही रोक लिया। आप ने इस घटना के लिए तत्काल बीजेपी पर आरोप लगा दिया। दिल्ली के संस्कृति मंत्री कपिल मिश्रा ने आरोप लगाया कि घटना से पहले हमलावर ने दिल्ली बीजेपी के एक नेता को फोन किया था। वहीं बीजेपी ने घटना की निंदा की, लेकिन कहा कि केजरीवाल को आत्मविश्लेषण करना चाहिए कि वह बार-बार ऐसे हमलों का सामना क्यों कर रहे हैं।

हमलावर को पुलिस द्वारा ले जाए जाने से पहले आप कार्यकर्ताओं ने उसकी पिटाई की। घटना शाम करीब 4.10 बजे हुई। पुलिस ने कहा कि वेद प्रकाश उत्तर-पश्चिम दिल्ली के बेगमपुर का रहने वाला है और वह एक प्रॉपर्टी डीलर है। उसे पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया और बाद में गिरफ्तार भी कर लिया गया।

वेद प्रकाश उन सीएनजी स्टिकरों के वितरण में कथित अनियमितताओं की बात कर रहा था, जिसे सम-विषम योजना के दौरान सीएनजी चालित कारों को रोक से छूट के लिए उन पर लगाना जरूरी है। प्रकाश ने आरोप लगाया कि लोधी रोड में सीजीओ कॉम्प्लेक्स के पास स्थित एक सीएनजी स्टेशन पर स्टिकरों की बिक्री एक हजार रुपये में की जा रही थी। प्रकाश ने दावा किया कि उसने सात अप्रैल को इस बारे में एक स्टिंग ऑपरेशन भी किया है और सीडी में वह है। केजरीवाल ने बाद में अपना संवाददाता सम्मेलन जारी रखा।

प्रकाश ने सीडी और जूता फेंकने से पहले कहा, ‘अरविंद जी कृपया एक मिनट, मैंने सीएनजी स्टिकर घोटाले पर एक स्टिंग किया है। एक सीएनजी स्टिकर का वितरण एक हजार रुपये में किया जा रहा है। आप यह क्यों कर रहे हैं? आप इसके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं करते?’

बीजेपी नेता से हुई थी हमलावर की बात
जूता हमले पर प्रतिक्रिया जताते हुए दिल्ली सरकार के मंत्री कपिल मिश्रा ने दावा किया कि प्रकाश ने केजरीवाल पर जूता फेंकने से पहले दिल्ली बीजेपी के एक नेता से बात की थी। मिश्रा ने ट्वीट किया, ‘वेद प्रकाश शर्मा की कॉल डिटेल की जांच होनी चाहिए। उसने हमले से ठीक पहले दिल्ली बीजेपी नेता को फोन किया था।’

पुलिस ने कहा कि प्रकाश की कॉल डिटेल की जांच की जा रही है। आप नेता कुमार विश्वास ने कहा कि यह हमला पंजाब चुनाव से पहले प्रतिद्वंद्वी पार्टियों की हताशा दिखाता है।

विश्वास ने कहा, ‘प्रिय षड्यंत्रकर्ताओं ये सम-विषम आपके आका को पंजाब चुनाव में एक बड़ा शून्य दिलाएगा, स्याही-जूते में लपेटी अपनी कुंठाएं फेंकते रहो।’ केंद्रीय संस्कृति मंत्री महेश शर्मा ने जूता हमले की निंदा की, लेकिन कहा कि आप नेता को ‘आत्मविश्लेषण’ करना चाहिए उनके साथ बार-बार ऐसी चीजें क्यों होती हैं।

शर्मा ने कहा, ‘मैं इस कृत्य का समर्थन नहीं करता। लोकतंत्र में इस तरह का कृत्य नहीं होना चाहिए। यद्यपि इस बारे में एक सवाल उठता है कि ऐसी चीजें बार-बार उनके साथ ही क्यों होती हैं। इससे पहले उन पर स्याही फेंकी गई थी और अब जूता। केजरीवाल को इस पर आत्मविश्लेषण करना चाहिए।’

मुख्यमंत्री को चोट पहुंचाना था इरादा
दिल्ली सरकार के सूचना एवं प्रचार विभाग ने इस संबंध में इंद्रप्रस्थ पुलिस थाने में एक शिकायत दर्ज कराकर आरोप लगाया है कि प्रकाश का इरादा मुख्यमंत्री को चोट पहुंचाना था।

एक अधिकारी ने कहा कि सरकार मुख्यमंत्री के संवाददाता सम्मेलन में केवल उन्हीं पत्रकारों को शामिल होने की इजाजत देगी, जिनके पास दिल्ली सूचना एवं प्रचार (डीआईपी) कार्ड होगा।

मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारी ने कहा कि यह ‘शर्मनाक और खतरनाक’ है कि एक पत्रकार होने का दावा करने वाला एक व्यक्ति मुख्यमंत्री पर निशाना साधने के लिए एक संवाददाता सम्मेलन का इस्तेमाल कर सकता है।

गत 17 जनवरी को समविषम योजना के पहले चरण की ‘सफलता’ के लिए आयोजित एक जनसभा के दौरान एक महिला ने केजरीवाल पर स्याही फेंक दी थी।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें