नई दिल्ली। पारदर्शी नीति अपनाने का दावा करने वाली नरेंद्र मोदी सरकार भी भ्रष्टाचार के घेरे में आ गई है। भ्रष्टाचार का यह आरोप किसी विपक्षी पार्टी ने नहीं बल्कि केंद्र और महाराष्ट्र की भाजपानीत सरकार में शामिल शिवसेना ने ही लगाया है।

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में कार्यकारी संपादक संजय राउत ने ‘सच्चाई’ नामक शीर्षक के तहत एलईडी बल्ब में भारी घोटाले का पर्दाफाश किया है। राउत ने लिखा है कि केंद्र सरकार ने एलईडी बल्ब लगाने का ठेका एक मृत कंपनी को दिया है, जिसमें करीब 25 हजार करोड़ रुपये का गैर-व्यवहार हुआ है।
राउत के इस आरोप से भाजपा-शिवसेना के बीच विवाद गहराने की संभावना है। केंद्र और राज्य सरकार में शामिल होने के बाद भी शिवसेना लगातार भाजपा के खिलाफ राजनीतिक बयानबाजी करती रही है लेकिन यह पहला मौका है जब शिवसेना ने अपनी ही सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाकर भाजपा को खुली चुनौती दी है। (upuklive)
और पढ़े -   टोल मांगने पर प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष का जवाब, मैं सांसद हूँ और टोल फ्री भी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE