किसानों की कर्जमाफ़ी को लेकर शिवसेना ने फडनवीस सरकार के खिआफ उग्र तेवर अपना लिए है. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि भाजपा सरकार अगर उचित तरीके से ऋण माफी योजना को कार्यान्वित करने में विफल रहती है तो उनकी पार्टी सरकार का भांडा फोड़ने से नहीं हिचकेगी.

उन्होंने कहा, “जब शरद पवार केंद्रीय कृषि मंत्री थे तो वह शिवसेना ही थी जिसने सबसे पहले किसानों के कर्ज माफी के लिए आवाज उठाई थी.” उन्होंने कहा, “किसानों की आत्महत्या के मामले में महाराष्ट्र दुर्भाग्य से अब भी शीर्ष पर है. यह वह क्षेत्र नहीं है जहां हमारे राज्य को शीर्ष पर होना चाहिए था.”

और पढ़े -   संघ पर राहुल गाँधी के वार से बोखलाई बीजेपी, संघ नेता भी हुए लाल

उन्होंने कहा, “इसिलए हमारी मांग थी कि किसानों को कर्ज मुक्त होना चाहिए.” उन्होंने कहा, “मैंने शिवसेना कार्यकर्ताओं से (आंदोलन के हिस्से के तौर पर ) बैंकों के बाहर ढोल बजाने को कहा है और वे लाभार्थियों सूची को प्रदर्शित करें.”

ठाकरे ने कहा, “अगर राज्य सरकार ऋण माफी की योजना को ठीक से लागू करने में विफल रहती है तो हम उसको उजागर करने में संकोच नहीं करेंगे.” (भाषा)

और पढ़े -   तीन तलाक पर उलेमाओं की सलाह से बने कानून: आजम खान

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE