lalu2

राष्ट्रीय जनता दल के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की जमानत रद्द होने का बाद शहाबुद्दीन के समर्थकों ने लालू यादव से मुंह मोड़ लिया. साथ ही उन्होंने लालू यादव को उनकी ही पार्टी से बाहर निकालने की तैयारी भी शुरू कर दी हैं. हालांकि शहाबुद्दीन को लालू प्रसाद का कट्टर समर्थक माना जाता हैं.

शहाबुद्दीन मुक्ति आंदोलन के नाम से गठित शहाबुद्दीन के समर्थकों की कमेटी ने शनिवार को गोपालगंज में एक आपात बैठक बुलाकर लालू प्रसाद यादव को राजद से बाहर निकालने के प्रस्ताव को पास कर दिया.

और पढ़े -   मध्य प्रदेश में सेक्स रैकेट चलाने और जासूसी काण्ड में बीजेपी नेताओ के पकडे जाने से पार्टी की राष्ट्रवादी छवि को पहुंचा नुक्सान ?

शहाबुद्दीन मुक्ति आंदोलन के कार्यकर्ताओं ने बैठक में कहा गया कि लालू प्रसाद ने ही एक सोची-समझी साजिश के तहत शहाबुद्दीन की जमानत को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दिलवाकर रद्द करवाई. साथ ही शहाबुद्दीन के दोबारा जेल जाने के लिए लालू को जिम्मेदार ठहराया गया.

इसके अलावा अपने नेता के जेल जाने से नाराज सिवान के अल्पसंख्यकों ने इस साल मुहर्रम नहीं मनाने का निर्णय लिया है.

और पढ़े -   लालू का बीजेपी-आरएसएस पर वार कहा, खींच कर दिल्ली की कुर्सी से नीचे ले आऊंगा

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE