udhav-650_650x488_61431800574

सितंबर में POK में की गई भारतीय सेना द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक्स जैसी एक और कारवाई की मांग करते हुए शिवसेना ने कहा कि पाकिस्तान आधारित आतंकी ठिकानों की तरह क्या चीन के खिलाफ भी सर्जिकल हमले किए जाएंगे ?

शिवसेना ने लद्दाख में चीनी सेना की घुसपैठ को लेकर कहा कि पाकिस्‍तान में सर्जिकल स्‍ट्राइक पर हमें काफी गर्व है। हालांकि पाकिस्‍तान में जो कुछ हुआ क्‍या ऐसी ही सर्जिकल स्‍ट्राइक चीन में भी होगी. सामना के संपादकीय में कहा गया कि ‘लद्दाख से अरूणाचल और सिक्किम तक चीन की कार्रवाइयों पर कई वर्षों से कोई ध्यान नहीं दिया गया. असली सवाल यह है कि चीन को कौन रोकेगा?

सामना में आगे कहा गया कि हमारे बड़बोले रक्षा मंत्री को यह साफ करना चाहिए कि हमारे सैनिकों ने चीनी घुसपैठ पर क्‍या कार्रवाई की. पाकिस्‍तान को केवल धमकी देने से कुछ नहीं होगा, चीनी सीमा की सुरक्षा करना भी रक्षा मंत्री की जिम्‍मेदारी है.

शिवसेना ने कहा, ”हमें चीन से लगती सीमा पर चौकस रहने की जरूरत है. हम पाकिस्‍तान को एक इंच जमीन भी नहीं देने की बात करते हैं और दूसरी ओर चीन के लेह, लद्दाख और अरुणाचल में अंदर तक घुसपैठ के बारे में कुछ नहीं बोलते. यह ठीक नहीं है.”


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें