prt

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने सनातन संस्था को एक खतरनाक संगठन बताते हुए प्रतिबंध लगाने की मांग की हैं. पृथ्वीराज चव्हाण ने नरेन्द्र दाभोलकर की हत्या के सिलसिले में संस्था के एक सदस्य की गिरफ्तारी के बाद संस्था पर प्रतिबंध लगाने की मांग की हैं.

तावडे की गिरफ्तारी को लेकर चव्हाण ने कहा, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को सरकार के वकीलों को स्पष्ट निर्देश देने चाहिए कि वे सनातन संस्था को प्रतिबंधित करने के लिए मामला तैयार करें, संगठन के खिलाफ एटीएस के पास सबूत हैं.

और पढ़े -   जब तिब्‍बती शरणार्थी तौर पर रह सकते हैं तो रोहिंग्‍या मुस्लिम क्‍यों नहीं: ओवैसी

उन्होंने कहा, राज्य सरकार और केंद्रीय गृह मंत्रालय की इस संगठन पर प्रतिबंध लगाने में महत्वपूर्ण भूमिका है जो अपनी विचारधारा का विरोध करने वालों को निशाना बना रहा है एवं उनकी जान ले रहा है। इस खतरनाक संगठन के मुखिया के खिलाफ मामला दर्ज किया जाना चाहिए और उसे सजा दी जानी चाहिए।

गोरतलब रहें कि 20 अगस्त, 2013 को पुणे में दाभोलकर की हत्या के बाद कट्टरपंथी समूह पर प्रतिबंध की मांग को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री ने केंद्र के पास एक प्रस्ताव भेजा था।

और पढ़े -   रोहिंग्या शरणार्थियों को भी देश रहने का है मौलिक अधिकार: ओवैसी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE