रायबरेली। समाजवादी पार्टी गुरुवार को होने वाले एमएलसी चुनाव में बीजेपी कैंडिडेट को सपोर्ट करेगी। सपा और बीजेपी में अंदरखाने हुए इस समझौते से सियासी हलके में काफी चर्चा है। कोई इसे सीबीआई का डर करार दे रहा है तो कोई इसे स्थानीय समीकरण।

आपको बता दें कि मंगलवार की रात सपा ने अपने एमएलसी कैंडिडेट मुकेश बहादुर सिंह को निष्कासित कर दिया था। उन पर कांग्रेस प्रत्याशी दिनेश सिंह के पक्ष में वोट मांगने का आरोप था। इस निष्कासन के बाद सपा ने बीजेपी कैंडिडेट सुरेंद्र बहादुर का सपोर्ट करने की बात कही है।

और पढ़े -   देश की अर्थव्यवस्था को वायग्रा की जरूरत, बीजेपी को सरकार चलाना नहीं आता: कपिल सिब्बल

सपा के इस ऐलान के बाद रायबरेली में कई तरह की चर्च हैं। कई लोग इसे यादव सिंह मामले में मुलायम परिवार पर कसते सीबीआई शिकंजे की बात कह रहे हैं। वहीं, कुछ लोग इसे स्थानीय समीकरण बता रहे हैं। क्योकि पार्टी अब किसी प्रत्याशी को मैदान में नहीं उतार सकती है। (indiavoice)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE