लखनऊ: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर तंज कसते हुए कहा कि इस संगठन ने अपना ‘ड्रेस कोड’ बदला है, लेकिन उसे अपनी विचारधारा भी बदलनी चाहिए।

'ड्रेस कोड' के साथ अपनी विचारधारा भी बदले संघ : दिग्विजय सिंहदिग्विजय ने लखनऊ में संवाददाताओं से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि संघ ने नागौर में अपनी बैठक में अपने कार्यकर्ताओं की पोशाक में बदलाव किया है। उसने ‘ड्रेस कोड’ बदला है, तो उसे अपनी विचारधारा भी बदलनी चाहिए।

और पढ़े -   नीतीश की पहले से ही आरएसएस से सेटिंग थी, तेजस्वी तो सिर्फ बहाना था - लालू यादव

गौरतलब है कि संघ की बैठक में तय किया गया है कि अब कार्यकर्ता निकर की बजाय पैंट और शर्ट पहनेंगे। उन्होंने कहा कि संघ के लोग देश के हर विश्वविद्यालय से ‘राष्ट्रद्रोही तत्वों’ को बाहर निकालने की मांग कर रहे हैं। आखिर उन्हें राष्ट्रद्रोही का प्रमाणपत्र देने का अधिकार किसने दिया है।

यूपी के वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव के बेटे आदित्य के रिसेप्शन समारोह में शिरकत करने आए दिग्विजय ने एक सवाल पर कहा कि कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं की यह आम राय है कि प्रियंका गांधी वाड्रा राजनीति में आएं। वह खुद भी ऐसा ही चाहते हैं।

और पढ़े -   दिग्विजय ने ली चुटकी कहा, आरएसएस की शाखाओ का प्लेसमेंट कैंब्रिज, ऑक्सफ़ोर्ड से ज्यादा

उन्होंने मुजफ्फरनगर दंगों की जांच के लिए गठित विष्णु सहाय आयोग की रिपोर्ट को ‘आश्चर्यजनक’ करार देते हुए कहा कि सबको पता था कि बीजेपी के एक सांसद और विधायक दंगे की आग भड़काने में संलिप्त थे।

विजय माल्या के मामले पर दिग्विजय ने कहा कि करोड़ों का कर्जदार होने के बावजूद इस उद्योगपति को किसने देश से बाहर जाने दिया, यह सभी जानते हैं। उन्होंने मांग की कि केंद्र सरकार कॉरपोरेट घरानों को दी गई एक लाख 14 हजार करोड़ रुपये की राहत को सार्वजनिक करे।

और पढ़े -   नायडू ने सरकार को चूना लगाकर बेटी-बेटे को अरबों का फायदा पहुँचाया: कांग्रेस

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE