कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को योगी सरकार ने जातीय तनाव से जूझ रहे सहारनपुर का दौरा करने से रोकने की पूरी कोशिश की. लेकिन अपनी जिद्द पर अड़े राहुल आखिर में सरसावा गांव में पीड़ितों से मुलाकात कर ही माने.

राहुल गांधी को प्रशासन ने हेलिकॉप्टर के जरिए हिंसाग्रस्त इलाकें में जाने की इजाजत नहीं दी तो वे दिल्ली से ही सड़क मार्ग से पीड़ितों से मिलने के लिए रवाना हुए. लेकिन पुलिस और प्रशासन ने उन्हें हरियाणा बॉर्डर पर यमुना पुल पर ही रोक लिया.

और पढ़े -   राहुल ने मोदी पर आरएसएस के लोगो को हर संस्थान में डालने और झूठ बोलने का लगाया आरोप

विरोध में राहुल गांधी ने करीब एक किलोमीटर की पदयात्रा की और एक ढाबे पर अपने समर्थकों के साथ बैठ गए. इस दौरान राहुल गांधी ने कहा कि आज के हिंदुस्तान में गरीब, कमजोर के लिए जगह नहीं है. दलितों को दबाया जा रहा है, ये पूरे हिंदुस्तान में हो रहा है केवल यूपी ही नहीं पूरे हिंदुस्तान में डर फैलाया गया है. मोदी सरकार सिर्फ केवल अमीर लोगों की बात मानती है.

और पढ़े -   गोरखपुर में बच्चो की मौत पर फूटा कुमार विश्वास का आक्रोश कहा, मंदिर मस्जिद को जिन्दा रखने वाले जिन्दा भविष्य को रहे मार

उन्होंने आगे कहा, वह शब्बीरपुर के लोगों का हाल जानना चाहते थे लेकिन उन्हें गांव में नहीं जाने दिया गया. पुलिस वहां जाने क्या छिपाना चाहती है.  कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि पूरे हिंदुस्तान में डर फैलाया जा रहा है. दलित, अल्पसंख्यक, कमजोर दबाये जा रहे हैं.

इसी बीच राहुल गांधी से मिलने पीड़ित परिवार बॉर्डर पर ही मिलने पहुंच गया. राहुल गांधी ने पीड़ित परिवार से बॉर्डर पर ही मुलाकात की.

और पढ़े -   स्वतंत्रता दिवस के मौके पर संबित पात्रा ने किया ऐसा ट्वीट की लोगो ने पूछ डाला, आज गौमूत्र नही पिया था क्या

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE