राजस्थान के बांसवाड़ा पहुंचे कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने किसान आक्रोश रैली में किसानों के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को निशाने पर लिया. उन्होंने किसानों के हितों की अवहेलना का आरोप हुए कहा कि जीएसटी के लिए रात काे 12 बजे संसद खोली जा रही है, लेकिन किसानों के लिए 10 मिनट का समय सरकार के पास संसद में चर्चा के लिए नहीं है.

राहुल ने कहा, आज सुबह मैं लोकसभा में था. वहां कांग्रेस ने किसानों के बारे में डिस्कशन के लिए समय मांगा था. हम चाहते थे कि लोकसभा में किसानों के बारे में चर्चा हो. जो आपके दिल में दुख है उस बारे में सदन में हम बोलना चाहते थे. बात करना चाहते थे, लेकिन हमें समय नहीं दिया गया. हमने चर्चा के लिए दो-तीन घंटे नहीं केवल 10-15 मिनट मांगे थे. हम आपके बारे में बोलना चाहते थे, लेकिन संसद में आज आपकी आवाज नहीं उठाई जा सकती.

अभी एक व्यापारी भाई आये थे उन्होंने जीएसटी के बारे में बोला. जीएसटी के लिए पार्लियामेंट को 11 बजे रात में खोला जा सकता है, लेकिन किसान के मुद्दे के लिए संसद में एक मिनट बात नहीं हो सकती है, यह है एनडीए-बीजेपी की सच्चाई. मैं आपको जीएसटी के बारे में बोलना चाहता हूं. उन्होंने कहा कि इससे छोटे व्यापारियों का परेशानी होगी.

राहुल गांधी ने कहा कि मोदी जी किसान दु:खी हैं. इस देश की पूरी दुनिया में पहचान किसान से है और इन्हीं से दुनिया में देश का नाम रोशन हुआ है. मैंने मोदी जी से कहा कि आप किसान का कर्जा माफ कीजिए. किसान को सही दमा दिलवाइए और बिजली का दर हाफ कीजिए. पूरे प्रदेशों में हम गये. दो करोड़ किसानों ने हमारा पीटिशन भरा. कांग्रेस के वर्कर गये. गांव में गये. किसानों से पूछा कितना कर्ज है. किसी के पास एक लाख, दो लाख, 10 लाख कर्ज था. और, दो करोड़ लोगों ने मोदी जी को कागज पर लिख कर दिया कि हमारा कर्जा माफ कीजिए और यह पूरे हिंदुस्तान की मांग है, केवल उत्तरप्रदेश की मांग नहीं है.

राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन पायलट ने इस बारे में कहा कि राजस्थान में पिछले काफी समय से किसान लगातार खुदकुशी कर रहे हैं, सरकार इस पर चुप्पी साधे हुए है. यही कारण है कि हम लोग ये आंदोलन कर रहे हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE