rahul

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने आरएसएस को लेकर अपनी स्थिति साफ़ कर दी है. उनके नए लक्षण देखकर लगता है की वो आरएसएस के साथ लम्बी लड़ाई लड़ने के मूड में आ चुके है. आरएसएस को लेकर की गयी उनकी टिप्पणी पर काफी हंगामा हुआ था जिसे लेकर आरएसएस उनके खिलाफ कोर्ट चली गयी थी लेकिन राहुल गाँधी ने इस केस में एक कदम आगे बढ़ाते हुए कहा की वो माफ़ी नही मांगेगे और आरएसएस के खिलाफ केस लड़ेंगे.

गौरतलब है की राहुल गाँधी ने कहा था की आरएसएस के लोगो ने महात्मा गाँधी की हत्या की. आज राहुल गाँधी ने साफ़ कहा की मैं अपनी कही हर बात पर कायम हूँ. राहुल के केस की सुनवाई ट्रायल कोर्ट में होगी और उन्हें पेशी से छूट नहीं दी गई है

राजनितिक पंडित जहाँ इस मामले को बेहद गंभीरता पूर्वक देख रहे है वही कुछ लोगो का कहना है की अगर राहुल गाँधी यह केस लड़ते है तो उनकी एक नई छवि निकलकर सामने आएगी तथा अल्पसंख्यों में राहुल गाँधी को लेकर उम्मीद की किरण जाग सकती है.

राहुल के वकील कपिल सिब्बल चाहते थे कि सुप्रीम कोर्ट अपने रेकॉर्ड में यह दर्ज कर लें कि राहुल अपने बयान पर कायम हैं और वह RSS के खिलाफ केस लड़ना चाहते हैं, लेकिन कोर्ट से ऐसा करने से इनकार कर दिया। इसका मतलब है कि राहुल गांधी को इस मामले में मानहानि केस की सुनवाई के दौरान भिवंडी ट्रायल कोर्ट में पेश होना पड़ेगा।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें