हैदराबाद : दलित शोधार्थी की आत्महत्या के बाद पिछले कुछ सप्ताह में राहुल गांधी द्वारा आज दूसरी बार किए गए हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय के दौरे को लेकर भाजपा ने अपना रुख सख्‍त कर लिया है. आज भूख हड़ताड़ पर बैठे राहुल गांधी ने एक बार फिर इस मुद्दे को हवा दे दी है. भाजपा ने कटाक्ष करते हुए राहुल और कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि वे इस मुद्दे का राजनीतिकरण कर रहे हैं और यह दौरा ‘‘शवों पर राजनीति” की मिसाल है. तेलंगाना भाजपा के प्रवक्ता कृष्णा सागर राव ने कहा, ‘‘राहुल गांधी और कांग्रेस राजनीतिक रुप से इतने दिवालिया और बेरोजगार हैं कि उन्हें एक छात्र की त्रासद मौत का बार-बार राजनीतिकरण करना पड रहा है.” राव ने सवाल उठाया, ‘‘राहुल गांधी चेन्नई क्यों नहीं जा रहे हैं, जहां लगभग एक सप्ताह पहले तीन लडकियों ने आत्महत्या की है.”

उन्होंने कहा, ‘‘तुच्छ राजनीतिक लाभ लेने की उनकी कोशिश उन्हें एचसीयू परिसर में वापस लेकर आई है. यह शवों पर राजनीति की उच्चतम मिसाल है.” राहुल कल आधी रात के बाद परिसर में पहुंचे थे और उन्होंने आंदोलनरत छात्रों द्वारा आयोजित ‘कैंडल मार्च’ में हिस्सा लिया. राहुल ने छात्रों के साथ लगभग दो घंटे बिताए. आत्महत्या कर लेने वाले दलित शोधार्थी रोहित वेमुला का आज जन्मदिन है और आज वह 27 साल के हो गए होते. दलित शोधार्थी की आत्महत्या के चलते कांग्रेस मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी और केंद्रीय मंत्री बंडारु दत्तात्रेय को हटाने और कुलपति अप्पा राव को बर्खास्त करने की मांग कर रही है.

वेमुला की आत्महत्या के बाद राहुल दूसरी बार हैदराबाद के दौरे पर आए हैं. वेमुला की आत्महत्या के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल 19 जनवरी को विश्वविद्यालय आए थे. उन्होंने आंदोलनरत छात्रों और रोहित के परिवार के सदस्यों से मुलाकात की थी. (prabhatkhabar)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें