rahul-gandhi309843

नई दिल्ली | NDTV पर बैन लगाने से लेकर पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल की आत्महत्या तक , मोदी सरकार , विपक्ष के निशाने पर रही है. इन्ही मुद्दों को उठाकर विपक्ष ने मोदी सरकार पर करार प्रहार किया है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने इन्ही मुद्दे पर , एक बार फिर मोदी सरकार को कठघरे में खड़ा किया है. राहुल गाँधी ने मोदी सरकार पर सत्ता के नशे में चूर होकर, असहमति की आवाज को दबाने का आरोप लगाया.

और पढ़े -   इस्‍लाम के नाम पर पहले डराया जा रहा फिर मुस्लिमों की जान ली जा रही: ओवैसी

कांग्रेस कार्यसमिति बैठक में बोलते हुए राहुल गाँधी ने कहा की मोदी सरकार सत्ता के नशे में चूर है. मोदी सरकार को सवाल करना बिलकुल भी अच्छा नही लगता. इसलिए वो असहमति की सभी आवाज को दबाना चाहते है. इसी वजह से कभी विपक्षी नेताओ को गिरफ्तार किया जाता है तो कभी न्यूज़ चैनल को बैन किया जाता है. यही नही मोदी सरकार , सिविल सोसाइटी को भी सवाल करने से रोक रही है.

और पढ़े -   मध्य प्रदेश में बीजेपी कार्यकर्ताओ ने लोगो के घर के बाहर लिखा, 'मेरा घर भाजपा का घर'

राहुल गाँधी यही नही रुके उन्होंने मोदी सरकार के कार्यकाल को लोकतंत्र के लिए अंधकारमय बताते हुए कहा की यह समय लोकतंत्र के लिए सबसे अंधकारमय है. सवाल पूछने से यह सरकार तिलमिला जाती है. इसका कारण यह है की सरकार के पास सवालो के जवाब ही नही है. यह हमारी जिम्मेदारी है की संसद में मोदी सरकार की नाकामियों को उजागर करे.

वन रैंक वन पेंशन पर बोलते हुए राहुल गाँधी ने कहा की यह सरकार वन रैंक वन पेंशन पर झूठ बोलती है. सेना और सैनिको की बात करने वाली मोदी सरकार , विकलांग सैनिको की पेंशन में कटौती कर देती है. इनके राज में किसान और सैनिक आत्महत्या कर रहे है. यह सरकार राष्ट्रिय सुरक्षा के मुद्दे को आगे कर सवालों से बचने का प्रयास करती है. सोनिया गांधी की अनुपस्थिति में राहुल गाँधी , कार्यकारिणी बैठक की अध्यक्षता कर रहे है.

और पढ़े -   बीजेपी ने दलित वोट बैंक के लिए 'कोविंद' का नाम किया घोषित, नही करेंगे समर्थन: शिवसेना

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE