कांग्रेस ने मोदी सरकार पर राफेल (Rafael) लड़ाकू विमान खरीद सौदे में घोटाले का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने उद्योगपति मित्र के लिए देश की सुरक्षा से समझौता किया है. साथ ही सरकारी खजाने को भी नुकसान पहुंचाया है.

कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि मोदी ने दो साल पहले फ्रांस यात्रा के दौरान रक्षा खरीद नियमों की परवाह किए बिना 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीद की मंजूरी दी थी.

उन्होंने आरोप लगाया कि इस सौदे में किसी भी तरह की पारदर्शिता नहीं थी और इस मौके पर न तो रक्षा मंत्री मौजूद थे और न ही इसके लिए केन्द्रीय मंत्रिमंडल की सुरक्षा मामलों की समिति तथा अन्य एजेन्सियों की मंजूरी ली गयी.

उन्होंने कहा कि यूपीए ने वर्ष 2012 में फ्रांस से मात्र 54000 करोड़ रूपये की लागत से 126 राफेल विमान खरीदने का सौदा किया था. साथ ही भारतीय एयरोस्पेस कंपनी हिन्दुस्तान एरोनोटिक्स लिमिटेड को प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के लिए भी समझौता हुआ था.

लेकिन अब मोदी सरकार ने बिना प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के प्रावधान के ही केवल 36 विमान 60 हजार करोड रूपये की भारी भरकम राशि में खरीदने को मंजूरी दी. इससे सरकारी खजाने को भारी नुकसान पहुंचा.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE