udhav-650_650x488_61431800574

स्वतंत्रता दिवस के भाषण में बलूचिस्तान का जिक्र करने पर शिवसेना ने पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए बुधवार को कहा कि क्या बलूच नेताओं को बचाने के लिए वह सेना भेजेंगे, जिन पर उनके बयान का समर्थन करने के लिए देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है.

पार्टी के मुखपत्र ने मोदी से पूछा कि क्या वे पाक अधिकृत कश्मीर में सेना घुसाएंगे या एक और भाषण ठोक कर उसका धिक्कार करेंगे. शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ ने लिखा, ”प्रधानमंत्री मोदी का समर्थन करने के लिए इन नेताओं ने बड़ी कीमत चुकाई. देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने सहित गंभीर अपराधों में उनके खिलाफ मामला दर्ज हुआ. यह पाकिस्तान के दमनकारी रवैये का हिस्सा है.”

सामना ने लिखा, “लाल किले से पीएम मोदी का समर्थन बलूच नेताओं को भारी पड़ रहा है. उनपर पाकिस्तान में केस किए जा रहे हैं. उन्हें जेल में ठूंसा जा रहा है. अब मोदी क्या करेंगे? नेताओं को मुक्त करवाने के लिए पाक अधिकृत कश्मीर मे सेना घुसाएंगे या बलूच नेताओं पर होने वाले दमन के खिलाफ एक और भाषण ठोंककर उसका धिक्कार करेंगे.”

मोदी पर हमला जारी रखते हुए अखबार आगे पूछा, “हमारे यहां कश्मीर में रोज पाकिस्तान का गुणगान करनेवाले हैं, कश्मीर में पाकिस्तान के झंडे लहराए जाते हैं. उनके खिलाफ हम क्या कारवाई कर रहे हैं?”


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें