ghulam-nabi

सोमवार को कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में कश्मीर मुद्दे से निपटने के लिए ‘एकता’ और ‘ममता’ की बात करने पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री सिर्फ कविता बना रहे हैं.

उन्होंने आगे कहा कि इसके पहले वह इंसानियत, जम्हूरियत और कश्मीरियत की बात कर रहे थें। अब वह एकता और ममता के साथ आए हैं. यह कविता है. उन्होंने आगे कहा, शायद वह (मोदी) जानते हैं कि कश्मीर के लोगों को कविता पसंद है.

आजाद ने कहा कि कश्मीर मुद्दा कविता और आकर्षक शब्दों से हल नहीं होने वाला है. उन्होंने कहा कि कश्मीरियों को कविता पसंद है और वे इसे अच्छी तरह जानते हैं. कोई भी उन्हें काव्यात्मक अभिव्यक्ति का उपयोग कर बेवकूफ नहीं बना सकता.

आजाद ने कहा कि कश्मीर में सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल भेजने का सरकार का फैसला 40 दिन देर से आया है.. उन्होंने कहा कि यदि निर्णय पहले ले लिया गया होता तो स्थिति इस दशा में नहीं पहुंचती. आजाद ने कहा, हम लोगों ने यह मांग 18 जुलाई को की थी। मांग को किए अब 40 दिन हो गए हैं. यदि सरकार ने पहले निर्णय ले लिया होता तो शायद चीजें इस दशा में नहीं पहुंचतीं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE