दिल्ली – पठानकोट पर हमले को लेकर देश की अंदरूनी राजनीती गर्मा गयी है, ताज़ा खबरों के मुताबिक कांग्रेस ने प्रधानमंत्री मोदी पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा की हमले के एक हफ्ते बाद फ़ोटो खिचवाने के लिए मोदी पठानकोट पहुंचे है. खबर विस्तार से पढ़े …

एयर फोर्स बेस पर हुए आतंकी हमले के बाद पीएम मोदी के पठानकोट के दौरे पर कांग्रेस ने तंज कसा है। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि पीएम मोदी का ये दौरा केवल तस्वीर खिंचवाने के लिए था। कांग्रेस ने आतंकवादी हमले के एक हफ्ते बाद पठानकोट वायु सेना ठिकाने का दौरा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि यह महज तस्वीर खिंचवाने के अवसर में तब्दील हुआ है।

कांग्रेस के संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘राष्ट्रीय सुरक्षा और आतंकवाद से लड़ने के मामले में मोदी सरकार की विफलता दर्शाने वाले पठानकोट आतंकवादी हमले के आठ दिन बाद प्रधानमंत्री की विलंब से हुई यह यात्रा महज फोटो खिंचवाने के अवसर में तब्दील हुई है।’ सुरजेवाला ने कहा, ‘समय की मांग पाकिस्तान द्वारा जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित कराना, आंतरिक सुरक्षा की विस्तार से समीक्षा करने और सुरक्षा चूकों के लिए जिम्मेदारी तय करने की है। हम उम्मीद करते हैं कि मोदीजी देश को इन महत्वपूर्ण मुद्दों पर की जा रही कार्रवाई के बारे में सूचित करेंगे।’

पार्टी के ट्विटर हैंडल पर एक फोटो ट्वीट में कांग्रेस ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री पूरे उत्साह के साथ पाकिस्तानी प्रधानमंत्री का जन्मदिन मनाते हैं लेकिन पठानकोट का खयाल उन्हें आठ दिन बाद आता है। कांग्रेस ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को उनके जन्मदिन पर बधाई देने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने विमान को मोड़ लिया लेकिन पठानकोट पहुंचने में उन्हें आठ दिन लगे।’ मोदी सरकार पर हमला करने के लिए नया नारा गढ़ते हुए कांग्रेस ने कहा, ‘आतंक के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं है। क्या मोदी सरकार इस तरह से चलेगी , करते नहीं आतंक पे वार, क्या ऐसे ही चलेगी मोदी सरकार।’

पार्टी पठानकोट हमले के बाद लोकसभा चुनाव में बीजेपी के नारे का हवाला देते हुए मोदी सरकार को निशाना बना रही है। उसमें कहा गया था, ‘बहुत हुआ सीमा पर वार, अबकी बार मोदी सरकार।’ प्रधानमंत्री ने आतंकवादी हमले के बाद की स्थिति का मूल्यांकन करने के लिए शनिवार को रणनीतिक पठानकोट वायु सेना ठिकाने का दौरा किया। चार दिन तक चली मुठभेड़ के बाद सुरक्षा बलों ने जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े छह पाकिस्तानी आतंकवादियों को मार गिराया था। इस मुठभेड़ में सात भारतीय सुरक्षाकर्मी भी शहीद हुए थे।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें