कश्मीर के हालात पर ज्योतिरादित्य सिंधिया का पीएम मोदी पर निशाना, कहां गई वो 'मन की बात'

मॉनसून सत्र के तीसरे दिन बुधवार को कश्मीर मुद्दे पर चर्चा के दौरान कांग्रेस के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि ‘कश्मीर में हालात निराशाजनक हैं. उनहोंने कश्मीर में हालात को संभालने में सरकार पर पूरी तरह असफल रहने का आरोप लगाते हुए कहा कि पहले अंहिसा हमारा मूलमंत्र होता था, लेकिन इस सरकार ने कश्मीर में यूपीए की दस साल की मेहनत को खराब कर दिया है.

उन्होंने आगे कहा कि इधर देश का राज्य कश्मीर जल रहा था और उधर हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विदेश में ड्रम बजा रहे थे. उन्होंने कश्मीर के हालात पर एक शब्द भी नहीं बोला. कश्मीर पर उच्च स्तरीय बैठक के बाद भी वे कुछ नहीं बोले. उन्होंने कहा कि कहीं ध्रुवीकरण इस सरकार का एजेंडा तो नहीं है.

सिंधिया ने कहा कि केन्द्र ने सब कुछ राज्य की सरकार पर छोड़ दिया, केन्द्र ने कोई जिम्मेदारी नहीं ली और न ही वहां कुछ किया. उन्होंने कहा कि कश्मीर के हालात बेहद चिंताजनक हैं। हम पाकिस्तान को कसूरबार ठहराते हैं, पाकिस्तान कसूरबार है, लेकिन हमें भी अपने गिरेवां में झांकना होगा. हमें भी यह देखना होगा कि हमारी आंतरिक सुरक्षा में कमियां तो नहीं हैं.

सिंधिया ने कहा कि विकास के प्रति इस सरकार का रुझान ही नहीं है. क्या यह सरकार आतंकवादी और आम नागरिक को एक ही नजर से देखेगी. क्या पैलेट गन वह आम आदमी पर भी चलाएगी। पीएम मोदी इस पूरे घटनाक्रम में विदेश दौरे पर थे. इस दौरे के दौरान उन्होंने अपने मंत्री को बधाई दी, फ्रांस हमलों की भर्त्सना की थी, लेकिन कश्मीर पर एक शब्द भी नहीं कहा.

उन्होंने आगे कहा, पीएम विदेश में बैठक ड्रम बजा रहे हैं. हालांकि आकर उन्होंने बैठक की थी, लेकिन उसमें कहीं भी कश्मीर की जनता को लेकर कोई बात नहीं हुई. मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि कहां गई वो ‘मन की बात’.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें