“केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने कहा है कि भारतीय उप महाद्वीप क्षेत्र से आतंकवाद को उखाड़ फेंकने के लिए भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश का परिसंघ बनाया जाना चाहिए। पासवान ने यहां पीटीआई-भाषा से कहा, भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश का एक परिसंघ जिसकी यूरोपीय संघ के यूरो की तर्ज पर एक मुद्रा हो, का गठन किया जाना चाहिए ताकि समस्याओं का समाधान निकाला जा सके।”

वैसे पासवान पहले भी इन तीनों देशों के महासंघ की वकालत कर चुके हैं जिसकी साझी मुद्रा हो और जिनके बीच कारोबार खुला हो। उनका कहना है कि इससे आतंकवाद का खत्मा किया जा सकेगा। राम विलास पासवान ने यह टिप्पणी तब की थी जब भाजपा महासचिव राम माधव ने कहा था कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का अब भी मानना है कि एक दिन ये हिस्से लोकप्रिय शुभेच्छा से एक साथ आएंगे और अखंड भारत का सृजन होगा जो ऐतिहासिक कारणों से केवल 60 वर्ष पहले अलग हुए हैं।

पठानकोट आतंकी हमले की निंदा करते हुए पासवान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाल में पाकिस्तान जाने की पहल की सराहना की और कहा कि दोनों देश आतंकवाद से परेशान हैं। उन्होंने कहा कि वह अपनी पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी की ओर से बोल रहे हैं। उन्होंने कहा,  हम भारत और पाकिस्तान के बीच राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता किए बिना मित्रता चाहते हैं। बिहार में शासन के बारे में लोजपा प्रमुख ने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में जंगल राज लौट आया है और नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली वर्तमान सरकार दो वर्ष से अधिक नहीं चल सकेगी। खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार दल की किसी संभावित कमी से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है और राज्यों को जमाखोरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। साभार: आउटलुक हिंदी


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें