आजम ने कहा कि जिन लोगों ने यह कहा था कि जो आजम का सर लाएगा, वही रामभक्त कहलाएगा। अगर ऐसे लोग ताजमहल को गिराते हैं तो मैं सबसे आगे रहूंगा। आजम ने कहा कि ताजमहल सिर्फ एक हुक्मरान की मुहब्बत के लिए बना था। हालांकि अब ऐसा नहीं होगा क्योंकि वही ताजमहल हमारे लिए इज्जत का सबब है। आमदनी का सबब है।

और पढ़े -   महिला आरक्षण बिल: सोनिया की पीएम मोदी को चुनौती, लोकसभा में है बहुमत पास करवा कर दिखाए

आजम खान ने जेएनयू मामले में छात्रों पर वकीलों की ओर से किए गए हमले की निंदा की। आजम ने कहा कि अगर कोई नारा लगा भी था जेएनयू में तो क्या उसका ये मतलब है कि हाईकोर्ट के वकील बच्चों पर हमला कर दें।

आजम खान ने कहा कि देश में विधि व्यवस्था की स्थिति उत्पन्न हो गई है। आजम खान ने हार्दिक पटेल की पैरवी करते हुए कहा कि हार्दिक पटेल पर वह मुकदमा है जो इमरजेंसी के जमाने में जॉर्ज फर्नाडिस पर था। आजम ने कहा कि अगर पॉलिटिकल रिवॉल्यूशन न आया होता तो 1975 में जॉर्ज फर्नाडिस को फांसी दे दी गयी होती। आज बिल्कुल वैसा ही कुछ हार्दिक पटेल के साथ किया जा रहा है।

और पढ़े -   देश की अर्थव्यवस्था को वायग्रा की जरूरत, बीजेपी को सरकार चलाना नहीं आता: कपिल सिब्बल

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE