जैसे ही नितीश कुमार की तरफ से इस्तीफे की घोषणा हुई उसके तुरंत बाद से देश में एकाएक जैसे बातचीत का टॉपिक ही बदल गया, सोशल मीडिया से लेकर न्यूज़ चैनलों तक हर जगह एक ही चर्चा सुनाई पड़ रही है.

नितीश कुमार ने इस्तीफा देने के तुरंत बाद नितीश कुमार ने बेहद गहरी बात कही, उन्होंने कहा ” ‘कफन में जेब नहीं होती, जो भी होगा यहीं रह जाएगा” हालाँकि उनका इशारा किस तरफ है यह जगजाहिर हो चूका है, लेकिन इस्तीफे के तुरंत बाद जो सबसे चौकाने वाली बात रही पीएम मोदी का वो ट्वीट जिसमे उन्होंने नितीश कुमार को बधाई देते हुए उन्हें भ्रष्टाचार से लड़ने वाला बताया, पीएम मोदी के इस ट्वीट के बाद कहा यह जा रहा है की गेंद अब बीजेपी के पाले में जाती नज़र आ रही है.

और पढ़े -   खोखले और झूठे वादे कर रही मोदी सरकार: राहुल गांधी

अगर बात की जाए विधानसभा में हासिल हुई सीट की तो नीचे दिखाए गयी सारणी में साफ़ देखा जा सकता है की अगर जेडीयू के साथ मिलकर बीजेपी गठबंधन करती है तो 124 सीटें बन जाएगी जबकि सरकार बनाने के लिए मात्र 122 सीटों की ही ज़रूरत पड़ेगी लेकिन वहीँ अगर यह आरजेडी और कांग्रेस मिलकर गठबंधन बनाए रखते है तो उनकी कुलमिलाकर 80+27 =107 + 12 (अन्य) = 119 सीटें ही बन पा रही है बहुमत के लिए अभी भी उन्हें 3 सीटों की ज़रूरत पड़ेगी.

और पढ़े -   मोदी सरकार की बजट कटौती के चलते गई गोरखपुर में बच्चों की जान: राहुल गांधी

ऐसे में यह बात साफ़ है की अब बहुमत का दारोमदार सीधे सीधे नितीश कुमार के ऊपर है वैसे उठापटक के इस दौर में देखना यह होगा की ऊंट किस करवट बैठता है.वैसे अभी अभी नितीश कुमार के इस ट्वीट ने मंज़र काफी हद तक साफ़ कर दिया है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE