कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने दलितों पर हाल ही में हुए हमलों को लेकर परोक्ष रूप से चिंता जताते हुए कहा कि आजादी केवल कुछ लोगों के लिए नहीं हो सकती.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि आजादी कभी भी केवल चुनिंदा लोगों के लिए नहीं हो सकती. उन्होंने लोगों से ऐसे देश की अभिलाषा रखने की अपील की जहां घृणित और हीन ताकतें विचारों को हिंसक रूप से नहीं कुचल सकें. जहां कोई खौफ में नहीं जीता हो और विचार का मुक्त प्रवाह हो.

पहली बार कांग्रेस मुख्यालय में झंडा फहराने के बाद राहुल ने कहा, हमने देखा है कि कुछ लोग आजादी के लिए खतरा पैदा करते हैं. हमें याद रखना चाहिए कि आजादी सभी के लिए बराबर है. देश के हर नागरिक को आत्मसम्मान से जीने और अभिव्यक्ति की आजादी होनी चाहिए. हमें सच्चाई पर जोर देना चाहिए और इसके लिए लड़ते रहना चाहिए.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, जिस पीढ़ी ने हमें आजादी दिलाई, वह लोग आज हमारे साथ नहीं है. लेकिन उनकी तरफ से दिया गया संविधान का बहुमूल्य तोहफा हमारे पास है. इसमें वे मूल्य, आदर्श और सिद्धांत शामिल हैं, जिनके लिए उन्होंने लड़ाई लड़ी थी.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें