पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सोमवार को कहा कि नोटबंदी का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) पर उल्लेखनीय व्यापक प्रतिकूल प्रभाव पडेगा. साथ ही यह उन सभी राज्यों में एक प्रमुख मुद्दा बनेगी जहां विधानसभा चुनाव हो रहे हैं.

पंजाब चुनाव के लिए कांग्रेस का घोषणापत्र जारी करते हुए सिंह ने कहा, नोटबंदी बाद के घटनाकर्मों से उनकी बात सही साबित हुई है. इसके लिए उन्होंने केंद्रीय सांख्यिकी संगठन की राष्ट्रीय आय इकाई के हालिया अनुमानों का भी हवाला दिया.

और पढ़े -   अमेरिका में बोले राहुल - असहिष्णुता और बेरोजगारी के चलते देश खतरे में जा रहा

उन्होंने आगे कहा कि नोटबंदी के जीडीपी पर प्रभाव के बारे में मैंने संसद में कहा था और यह साबित हो गया है. केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय के आकलन (2016-17) के अनुसार जीडीपी विकास दर 7.6 लक्ष्य की तुलना में 7.1 प्रतिशत रहेगी.

उन्होंने कहा, “लेकिन, यह आकलन व्यवस्था पर नोटबंदी के कुल प्रभाव को ध्यान में नहीं रखता है. अगर इस समग्र प्रभाव का आकलन कर लिया जाए तो फिर आप देश की जीडीपी पर इसका व्यापक प्रतिकूल प्रभाव देखेंगे.”

और पढ़े -   गौरी लंकेश और रोहिंग्या मुस्लिमों की हत्या पर खुश होने वाले एक: अलका लांबा

आगामी विधानसभा चुनाव में नोटबंदी के मुद्दे को लेकर बहस होने के सवाल पर मनमोहन सिंह ने कहा, ‘पांच राज्यों में होने वाले चुनावों में नोटबंदी अहम मुद्दा होगा.’


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE