बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने एक बार फिर से जेएनयू और जाट आरक्षण के मसले पर केंद्र पर हमला बोला है. मंगलवार को कैबिनेट की बैठक के बाद नीतीश ने कहा कि दिल्ली में कानून का राज नहीं है बल्कि जंगलराज है.

नीतीश ने कहा कि दिल्ली पुलिस केन्द्र के अधीन है ऐसे में सारे हालात के लिए दोनों दोषी हैं और जो हालात बने हैं उससे साफ जाहिर है कि दिल्ली में साफतौर पर जंगलराज है. नीतीश ने कहा कि देश में फासिज्म जैसी विचारधारा को लोगों पर थोपने की तैयारी चल रही है.

नीतीश बोले- विचारधारा नहीं मानने वालों को देशद्रोही करार दे रही है सरकार

केन्द्र सरकार के विचार से जो भी लोग असहमत हैं उन पर लोग विचार थोपना चाह रहे हैं. जो विचारों से असहमत हैं उनको देशद्रोही घोषित कर दिया जा रहा है. नीतीश ने कहा कि लोग सत्ता के साथ धर्म के नाम पर देश को बांटना चाहते हैं.

जाट आरक्षण के मसले पर नीतीश ने कहा कि चुनाव के दौरान जो घोषणा बीजेपी ने की तो उसे पुरा करना होगा. हरियाणा की परिस्थिति के लिए बीजेपी ही जिम्मेवार है. उन्होने कहा आर्थिक मोर्चे की विफलता को छुपाने के लिए भाजपा सारा खेल कर रही है.

देश को बचाने के लिए सारे लोगों को साथ आना होगा वरना देश यूं ही अलग-अलग मसलों को लेकर सुलगता रहेगा. (pradesh18)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें