लगातार तीसरी बार बिहार का सीएम बनने के बाद नीतीश कुमार का कद भी बढ़ता जा रहा है। जनता दल यू के शीर्ष नेतृत्व में शरद यादव की जगह अब नीतीश जेडीयू के अध्यक्ष चुन लिए गए हैं।

कुछ देर पहले पार्लियामेंट की एनेक्सी में हुई जेडीयू कार्यकारिणी की बैठक में ये फैसला लिया गया। शरद यादव ने नीतीश के नाम का प्रस्ताव रखा, जिसका केसी त्यागी ने समर्थन किया। कुछ समय से चर्चा जोरों पर थीं कि शरद यादव की जगह नीतीश कुमार ही जेडीयू अध्यक्ष पद की कमान संभालेंगे। शरद यादव को पहले ही पार्टी के संविधान में बदलाव कर दोबारा अध्यक्ष चुना गया था। ऐसे में एक बार फिर उन्हें कमान देना संभव नहीं नजर आ रहा था।

और पढ़े -   बीजेपी के जंगलराज में मुस्लिमों को मारा जा रहा और सरकार पूरी तरह खामोश - सीताराम येचुरी

इसके अलावा बिहार में जबरदस्त वापसी के बाद अब जेडीयू राष्ट्रीय स्तर पर भी अपनी छाप छोड़ना चाहती है। यूपी चुनाव से पहले अजित सिंह वाली राष्ट्रीय लोकदल के जेडीयू में विलय का मुद्दा भी एक अहम पड़ाव है। साथ ही पार्टी को राष्ट्रीय स्तर पर पैर जमाने के लिए बिहार से बाहर जाना होगा और नीतीश कुमार इस मामले में पार्टी के लिए अहम साबित हो सकते हैं। इन्ही वजहों से नीतीश को कमान सौंपी गई है। (hindi.news24online.com)

और पढ़े -   मध्य प्रदेश में सेक्स रैकेट चलाने और जासूसी काण्ड में बीजेपी नेताओ के पकडे जाने से पार्टी की राष्ट्रवादी छवि को पहुंचा नुक्सान ?

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE