बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में ‘संघ मुक्त भारत, शराब मुक्त समाज’ का नारा दिया। एक जनसभा को संबोधित करते हुए नीतीश ने कहा कि बीजेपी की कथनी और करनी में बहुत फर्क है। चुनाव में जो भी बादे किए उसे पार्टी भूल चुकी हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी आर्थिक मोर्चे पर विफल हो चुकी है। काला धन अभी तक भारत नहीं ला पाए।

और पढ़े -   गौरक्षा पर सपा नेता की खरी-खरी - 'कुछ लोग हिन्दू धर्म के ठेकेदार बन चुके'

शराब बंदी के बारे में उन्होंने कहा कि बिहार में महिलाओं की मांग पर शराब बंदी का फैसला लिया गया। अब झारखंड के लोग भी शराब बंदी करने की मांग कर रहे हैं। उन्होंने यूपी में भी शराब बंदी की मांग की। उन्होंने कहा कि 15 मई को शराब बंदी पर लखनऊ में सम्मेलन किया जाएगा।

उन्होंने सवाल उठाते हुवे पूछा कि बीजेपी शासित प्रदेश में शराब की बिक्री पर रोक क्यों नहीं? उन्होंने लोगों से पूछा कि क्या शराब से आमदनी सही है? नीतीश ने कहा कि   चाहते हैं।

और पढ़े -   राज्यसभा में बोले कपिल सिब्बल - अब असली हिन्दू जागेंगे, जबकि नकली हिन्दू भागेंगे

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE