मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा बुधवार को अपने पद से इस्‍तीफा दिए जाने के बाद बिहार की राजनीति में भूचाल आ गया है. नीतीश कुमार के अचानक इस्तीफे पर आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि नीतीश का आरएसएस और बीजेपी के साथ पूरा मामला पहले से ही सेट था. तेजस्वी तो एक बहाना था.

उन्होंने कहा कि उन्होंने आंख मूंदकर नीतीश पर भरोसा किया, लेकिन उन्होंने धोखा दिया. उन्होंने कहा, ‘हमसे लड़ाई थी तो बच्चों को क्यों ले आए. वे धोखेबाज हैं, कितनों को उन्होंने धोखा दिया. वोटर्स को धोखा दिया, जिस पार्टी के खिलाफ बिहार में जनादेश था, उसी पार्टी के साथ हो गए नीतीश. वे किसी के नहीं हो सकते.’

और पढ़े -   गुजरात में बीजेपी विधायक की मांग, हिन्दू इलाके में मुस्लिमो को घर खरीदने की नही मिले इजाजत

लालू ने कहा, कभी नीतीश कुमार ने कहा था कि हम मिट्टी में मिल जाएंगे, लेकिन भाजपा से कभी हाथ नहीं मिलाएंगे. हमने रात को भी नीतीश जी से बात की थी, जिसमें किसी भी गलतफहमी को मिल-बैठकर हल करने की बात कही थी. डिप्‍टी सीएम तेजस्‍वी ने भी कहा था कि उनसे कोई इस्‍तीफा नहीं मांगा गया, बस यह कहा था कि पब्लिक डोमेन में इन आरोपों को लेकर मीडिया को बता दिया जाए, ताकि जनता को बात का पता लगे’.

लालू ने कहा, हमने ये जरूर कहा कि बिहार जदयू के प्रवक्‍ता सीबीआई या पुलिस नहीं है, जो हमसे लगातार सफाई देने को कह रहे थे. हमने कहा था कि जो कहना होगा वो जनता के सामने कहेंगे ही, जांच एजेंसी के सामने भी कहेंगे’. लालु ने कहा कि बुधवार की घटना के बाद तेजस्वी नेता बनकर उभरे हैं. तेजस्वी एक परिपक्व नेता बन रहे हैं और इन सब घटनाओं से उन्हें सबक और अनुभव मिल रहा है. अगर विपक्ष में बैठे तो तेजस्वी विपक्ष के नेता होंगे. साल 2020 में आरजेडी सरकार बनाएगी और तेजस्वी सीएम होंगे.

और पढ़े -   वोट मांगने पहुंचे बीजेपी नेता मनोज तिवारी पर लोगों ने किया पत्थर से हमला

उन्‍होंने कहा कि ‘नीतीश कुमार हत्‍या और आर्म्‍स एक्‍ट के एक मामले में आरोपी हैं और तेजस्‍वी को तो इस बात का पता भी नहीं है. जीरो टोलरेंस वाले मुख्‍यमंत्री मेरे छोटे भाई नीतीश कुमार ने चुनाव आयोग को दिए अपने शपथ पत्र में खुद यह जानकारी दी थी. इस मामले में अदालत द्वारा 2009 में नीतीश कुमार पर संज्ञान भी लिया जा चुका है. लालू ने आगे कहा, कौन सा जीरो टोलरेंस… कौन सी ईमानदारी. भ्रष्‍टाचार के आरोप से बड़ा है अत्‍याचार.

और पढ़े -   वाराणसी में लगे मोदी के लापता होने के पोस्टर लिखा, जाने कौन सा देश तुम चले गए

आरजेडी प्रमुख ने कहा, नीतीश को यह मालूम हो गया था कि अब हम बचने वाले नहीं है. नीतीश भाजपा, आरएसएस से मिले हुए हैं. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वहीं से ट्वीट कर नीतीश को बधाई दे दी. बीजेपी के समर्थन से सरकार बनाने को लेकर पूछे गए सवाल पर नीतीश ने ‘ना’ नहीं कहा, यानि उन्‍होंने पूरे पत्‍ते खोल दिए’.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE