rh11

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की दरों में परिवर्तन के बावजुद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने साफ़ किया कि उनका इस मसले पर फिलहाल चुपचाप बैठने का कोई इरादा नहीं है.

राहुल ने कहा कि जब तक 5 स्लैब का ‘गब्बर सिंह टैक्स’ 18 प्रतिशत सीमा के साथ ‘वस्तु एवं सेवा कर’ में नहीं बदलता तब तक वह आराम से नहीं बैठेंगे. उन्होंने कहा कि हमारे बार-बार कहने अौर छोटे दुकानदारों के दबाव बनाने के बाद ही अरुण जेटली ने 28% के स्लैब से ज्यादातर वस्तुएं बाहर कीं.

उन्होंने कहा कि 5 स्लैब के साथ यह गब्बर सिंह टैक्स है. एक टैक्स के साथ यह जीएसटी होगा. उन्होंने कहा, ‘यह अच्छी बात है कि कांग्रेस और देश के लोगों ने बीजेपी सरकार पर दबाव बनाया, जिसके चलते कई वस्तुओं को 28 फीसदी कर के दायरे से निकालकर कर 18 फीसदी कर के दायरे में शामिल किया गया, लेकिन हम इससे खुश नहीं हैं और हम इतने भर से नहीं रुकेंगे.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, भारत में पांच अलग-अलग करों की जरूरत नहीं है, बल्कि देश में एकल कर की जरूरत है. इसलिए जीएसटी में संरचनात्मक बदलाव की जरूरत है.’

प्रांतिज में एक जनसभा को संबोधित करते हुए ठाकोर ने लोगों से कहा, ‘बीजेपी वाले आपको डराएंगे, मूर्ख बनाएंगे, फिर मोदी आएंगे और गुजरात की गौरवगाथा गाएंगे. लेकिन इस बार उनकी बातों में नहीं आना.’


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE