जवाहरलाल नेहरु यूनिवर्सिटी (JNU) से लापता हुए छात्र नजीब अहमद को लेकर जेएनयू में सद्भावना सभा का आयोजन किया गया. जिसमे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल, कांग्रेस नेता शशि थरूर सहित कई नेता शामिल हुए. यूनिवर्सिटी कैंपस से 14 अक्टूबर को गायब हुए छात्र नजीब को 20 दिन से ज्यादा समय हो गया हैं. दिल्ली पुलिस अभी तक इस बारें में कोई सुराग भी नहीं लगा पाई.

और पढ़े -   नायडू के बयान पर भड़के केजरीवाल, कहा - अमीरों की कर्जमाफी फैशन नजर नहीं आती

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसके लिए बीजेपी और दिल्ली पुलिस को जिम्मेदार ठहरात्ते हुए कहा कि नजीब को केवल एक मुस्लिम के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए. ये युवाओं का मुद्दा है. युवाओं की बात को सामने रखनी होगी. बीजेपी वाले किसी के नहीं है हिंदुओं के भी नहीं.

केजरीवाल ने दिल्ली पुलिस पर आरोप लगाया कि नजीब के मामले में गंभीरता से कार्रवाई नहीं हो रही है. केजरीवाल ने युवाओं से अपील की कि इस लड़ाई को जेएनयू से बाहर ले जाया जाना चाहिए. केजरीवाल ने युवाओं से अपील की कि इस मुद्दे पर इंडिया गेट पर प्रदर्शन होना चाहिए.

और पढ़े -   वेंकैया नायडू ने कहा - हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा, थरूर बोले - जबरदस्ती थोपेंगे

उन्होंने कहा कि इस घटना में एबीवीपी जुड़ी है इसलिए पुलिस इसकी निष्पक्ष जांच नहीं करेगी. उन्होंने कहा मैं आपके साथ बैठने को तैयार हूं. जेएनयू से निकल आप इंडिया गेट पर आते हैं तो मैं आपके साथ बैठूंगा. केजरीवाल ने कहा कि यदि यहीं अंबानी के बेटे को कुछ हो जाता तो मोदी जी जहाज पकड़कर वहां चले जाते.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE