राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए)की और से उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार एम. वेंकैया नायडू पर कांग्रेस ने भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाये है.

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा कि उपराष्ट्रपति चुनाव लड़ने के पहले नायडू को कुछ चीजों पर अपना रुख साफ करना चाहिए. उन्होंने आरोप लगाया कि उन्होंने सरकार को चूना लगाकर उन्होंने बेटी-बेटे को पांच सौ करोड़ रुपए का फायदा पहुंचाया.

और पढ़े -   सपा नेता माविया अली का बयान, पहले हम मुस्लमान , फिर भारतीय

उन्होंने कहा कि नायडू ने बेटे की कंपनी को तेलंगाना सरकार से ठेके दिलवाए. 270 करोड़ रुपये का ऑर्डर बिना टेंडर खोले तेलंगाना सरकार ने 2 कंपनियों को दिया. उनमें से एक (हिमान्शु मोटर) के मालिक मुख्यमंत्री के बेटे के टी रामा राव हैं. दूसरी कंपनी हरशा टोयोटा के मालिक वेंकैया नायडु के बेटे की हैं.

रमेश का आरोप है कि 6 अप्रैल 2011 को सुप्रीम कोर्ट ने मध्य प्रदेश में 20 एकड़ जमीन के अलॉटमेंट को खारिज कर दिया था. ये जमीन कुशाभाऊ ठाकरे मेमोरियल ट्रस्ट को दी गई थी. नायडू इसके चेयरमैन थे. रमेश के मुताबिक इस साल 20 जून को तेलंगाना सरकार ने नायडू की बेटी के स्वर्ण भारत ट्रस्ट की 2 करोड़ की देनदारी को माफ कर दी. इस ट्रस्ट में नायडू की बेटी प्रबंधन ट्रस्टी हैं.

और पढ़े -   मध्य प्रदेश निकाय चुनावो में जीत हासिल कर भी नुकसान में रही बीजेपी, मंदसौर में मिली करारी हार

 कांग्रेस द्वारा सवाल उठाने पर नायडू ने कांग्रेस के सभी आरोपों को पूरी तरह से गलत और राजनीति से प्रेरित बताया है. नायडू ने कहा कि कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने जो मुद्दे उठाए हैं उसका जवाब अतीत में भी दिया जा चुका है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE