एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मुजफ्फरनगर दंगों के बाद 50,000 मुसलमानों के पलायन का दावा किया हैं. उन्होंने कहा कि मुजफ्फरनगर दंगों के बाद 50,000 से अधिक लोगों ने अपना मूल स्थान छोड़ दिया, जहां वे पीढ़ियों से रहते आ रहे थे.

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मुजफ्फरनगर दंगों के बाद 50,000 मुसलमानों के पलायन पर बीजेपी से पूछा कि क्या वह वहां एक जांच टीम भेजेगी, जैसा कि इसने हिंदुओं के कथित पलायन के मुद्दे पर कैराना भेजी है. ओवैसी ने कैराना से कथित तौर पर पलायन करने वाले 346 परिवारों की सूची को भी ‘फर्जी’ बताया है.

और पढ़े -   राजनाथ सिंह: रोहिंग्याओं को वापस लेने के लिए म्यांमार तैयार, अब आपत्ति क्यों ?

ओवैसी ने साल 2013 के मुजफ्फरनगर दंगों के बाद के इस पलायन को देश की आजादी के बाद अल्पसंख्यकों को सामूहिक रूप से हटाने का कार्य बताया हैं. उन्होंने कहा कि भाजपा बहुसंख्यक समुदाय के बीच डर की भावना पैदा करना चाहती है और सपा मुसलमानों को यह संदेश देना चाहती है कि यदि आप सपा को नहीं चुनते हैं तो आप असुरक्षित हैं. इस तरह यह नाटक भाजपा और सपा, दोनों कर रही है.

और पढ़े -   दाऊद की बीवी आकर चली गई और मोदी सरकार सोती रही: कांग्रेस

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE