sadanand

कानून मंत्री सदानंद गौड़ा ने आतंकी होने के गलत आरोपों और फिर उनके परिणामों को झेलने वाले मुसलमानों के प्रति सहानुभूति व्यक्त करते हुवे कहा कि गलत आरोपों की जद में आने वाले समुदाय विशेष के लोगों को बचाने के लिए कानूनी संशोधनों पर विचार हो रहा है।

अलीगढ़ में आयोजित ‘विकास पर्व’ में उन्होंने आगे कहा कि धारों के लिए एक पैनल बनाया गया है और एक सुप्रीम कोर्ट के जज को इसका चेयरपर्सन बनाया गया है। संदेह के आधार पर गलत आरोपों का शिकार हुए मुसलमानों को उनकी बेगुनाही साबित होते-होते कई साल जेल में काटने पड़ जाते हैं और फिर वापस लौटने पर समाज और उन्हें, दोनों ही को एक-दूसरे को अपनाने में कठनाई होती है।

और पढ़े -   हमने कोई शराबघर या ***खाना नहीं बनवाया, योगी को जांच करानी है तो करा लें: आजम खान

गोरतलब रहे कि मुस्लिम समुदाय के युवाओं की संख्या इन मामलों में ज्यादा हैं. जो कई सालों तक जेलों में गुजारने के बाद बाइज्जत अदालतों से रिहा हो रहे हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE