लखनऊ | उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में बीजेपी की बम्पर जीत के बाद ईवीएम् पर उठे सवाल और गहराते जा रहे है. खासकर आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज के तर्कों से तो ऐसा ही लगता है. उन्होंने पहले विधानसभा में ईवीएम् जैसी दिखने वाले मशीन में छेड़छाड़ करके दिखाई , इसके बाद उन्होंने दावा किया की उनके पास ऐसे एक्सपर्ट्स है जो किसी भी ईवीएम् की रोम पढ़कर यह बता सकते है की मशीन में कब और किसको वोट डाला गया.

चूँकि ईवीएम् जैसी दिखने वाली मशीन में छेड़छाड़ का डेमो कुछ राजनितिक दलों के प्रतिनिधियों ने अपने सामने देखा है इसलिए अब कुछ और विपक्षी दल इसके खिलाफ मुखर हो गए है. पहले जेडीयु ने आम आदमी पार्टी का समर्थन किया, उसके बाद मायावती ने और अब मुलायम सिंह यादव ने. मुलायम सिंह ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा की ईवीएम् से बईमानी की जा सकती है.

गुरुवार को एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने आये मुलायम सिंह ने पत्रकारों से बात की. जब उनसे ईवीएम् में छेड़खानी के बारे में पुछा गया की मशीन से बईमानी करना कोई बड़ी बात नही है. इसलिए मैं मानता हूँ की ईवीएम् से वोटिंग छोड़कर हमें वापिस ठप्पा मार तरीका ही अपनाना चाहिए. इससे पारदर्शिता बढ़ेगी और परिणामो में भी यह पारदर्शिता दिखाई देगी.

इस दौरान मुलायम ने अखिलेश पर निशाना साधना नही भूला. उन्होंने कहा की अखिलेश ने पहले वादा किया था की वो केवल तीन महीने के लिए पार्टी का राष्ट्रिय अध्यक्ष बन रहे है , इसके बाद मैं आपको यह वापिस लौटा दूंगा. अब वो अपनी जुबान और वादे को क्यों नही निभा रहे है. मुलायम ने मीडिया से कहा की आप यह सवाल अखिलेश से पूछिए. हालाँकि उन्होंने कहा की मुझे पद का कोई लालच नही है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE