सीतापुर:  बसपा  के राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी  ने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा है कि मुसलमानों के लिए नरेंद्र मोदी से ज्यादा खतरनाक अखिलेश यादव व मुलायम सिंह हैx। सिद्दीकी ने कहा है कि मुजफ्फ़ऱनगर दंगो को लेकर सामने आई जस्टिस सहाय की जांच रिपोर्ट से बसपा कतई सहमत नहीं है। सरकार के दबाव में बनाई गई रिपोर्ट में लीपापोती की गई है।

और पढ़े -   कानून से ऊपर नहीं गौरक्षक, जो लोगों को बेरहमी से मार रहे है: केंद्रीय मंत्री अठावले

नसीमुद्दीन ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा। कांग्रेस की गलत नीतियों को कटघरे में खड़ा करते हुए देश के पिछड़ेपन के लिए उसे जिम्मेदार बताया। फिर उन्होंने केंद्र की भाजपा और प्रदेश की सपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इन दोनो की मिलीभगत से प्रदेश की जनता का शोषण हो रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रदेश में पिछले 4 साल में 300 से अधिक दंगे करवाए हैं।

और पढ़े -   दिल्ली बीजेपी दो फाड़ होने की कगार पर मनोज तिवारी और विजय गोयल में बढ़ी तकरार

मुस्लिम आरक्षण का वादा भूले-

नसीमुद्दीन ने कहा कि दंगो के लिए केंद्र से कहीं अधिक जिम्मेवार प्रदेश सरकार है। सपा ने राजनीतिक स्वार्थ के लिए हिंदूओं और मुस्लिमों को लड़वाया। सपा ने 2012 में घोषणा की थी की मुस्लिमों को 18.5 फीसदी आरक्षम देगी और 17 पिछड़ी जातियों को अनसूचित जाति में शामिल किया जाएगा लेकिन यह वादा आजतक नहीं पूरा किया गया। (indiavoice)

और पढ़े -   पीड़ित दलितों से मिलकर मायावती ने कहा - योगी सरकार दलित विरोधी, संघर्ष के लिए रहो तैयार

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE