नई दिल्ली  बीजेपी नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने नए साल के पहले दिन से दिल्ली की ट्रैफिक पर लागू हुए ऑड-ईवन सिस्टम की तारीफ की है। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने योजना को एक अच्छी शुरुआत बताया है। उन्होंने कहा कि हमें लगता है कि पल्यूशन का लेवल जिस तरह खतरनाक होता जा रहा है, हमें कहीं न कहीं शुरुआत करने की जरूरत है। हर किसी को इसे सकारात्मक तरीके से लेना चाहिए।

mukhtar-abbas-naqvi

वहीं दूसरी ओर दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने ऑड-ईवन कार योजना को लेकर आप सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि इसे लागू करने में कई व्यावहारिक समस्याएं हैं। इन पर चर्चा की जा सकती थी और लागू करने से पहले उनका हल हो सकता था। उन्होंने अपना हवाला देते हुए कहा कि मेरे पास दो कारें हैं। लेकिन जब मुझे पार्टी के एक कार्यकर्ता के घायल होने की खबर मिली तो मैं तत्काल नहीं जा सका, क्योंकि उस समय ईवन नंबर वाली कार मेरे पास थी, जबकि ऑड नंबर वाली कार मेरा बेटा लेकर गया हुआ था। ऐसे में मैंने एक दोस्त को बुलाया, लेकिन मुझे कार्यकर्ता को ट्रॉमा सेंटर ले जाने में आधे घंटे की देरी हुई।

उपाध्याय ने कहा कि महिलाओं को अपने परिवार के पुरुष सदस्यों के कार में बैठे होने पर वाहन चलाने की मंजूरी नहीं है, भले ही वे कार चलाना नहीं जानते हों। बीजेपी नेता ने केजरीवाल की आलोचना करते हुए कहा कि योजना लागू होने के दो घंटे के भीतर ही उन्होंने इसे बड़ी सफलता करार दे दिया, जो इसे लेकर राजनीति करने की उनकी तत्परता को दर्शाता है। अगर वह 15 दिन के बाद इसकी सफलता को लेकर कुछ कहते तो बेहतर होता।

ऑड ईवन स्कीम पर दिल्ली सरकार को कई दूसरी पार्टियों के नेताओं और सिलेब्रिटी का भी सपॉर्ट मिला। हालांकि कुछ लोगों का कहना था कि अभी इस स्कीम को कामयाब बताना जल्दबाजी होगी। शुक्रवार सुबह आठ बजे जब स्कीम की शुरुआत हुई तो ट्विटर पर कई बड़ी हस्तियों ने अपनी राय जाहिर की। अरविंद केजरीवाल सरकार के इस कदम को कांग्रेस से लेकर योगेंद्र यादव तक का सपोर्ट मिला। सबका कहना था कि दिल्ली में पल्यूशन बहुत ज्यादा है और इससे निपटने के लिए ऐसे कदम उठाए जाने बहुत जरूरी हैं।

पूर्व गृह मंत्री पी. चिदंबरम ने भी समर्थन करते हुए कहा कि ऐसी स्कीम के आने से रोड पर लोगों का बर्ताव बदलेगा। शॉर्ट पीरियड के लिए ऐसी स्कीम लागू की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि वे इस प्लान को सपॉर्ट करते हैं। कांग्रेस नेता नवीन जिंदल भी इस स्कीम के पक्ष में नजर आए। उन्होंने ट्वीट कर बताया कि सड़कों पर आज सिर्फ ऑड नंबर की गाड़ियां नजर आ रही हैं। ज्यादा ट्रैफिक भी नहीं है। उन्होंने बताया कि आज कहीं जाने में आम दिनों के मुकाबले आधा वक्त ही लग रहा है। नवीन का कहना था कि प्लान बहुत अच्छी तरह से काम कर रहा है।

आम आदमी पार्टी के नेता रह चुके योगेंद्र यादव ने भी स्कीम का सपॉर्ट किया। केजरीवाल के विरोधी योगेंद्र ने कहा कि दिल्ली सरकार के पक्ष-विपक्ष को भूलकर ऑड ईवन स्कीम को एक मौका देना चाहिए। उनका कहना था कि पल्यूशन बहुत ज्यादा है और यह जहर है। सड़क से प्राइवेट कारों को घटाना जरूरी है। अगर यह स्कीम फेल हुई तो पर्यावरण की हर योजना बदनाम हो जाएगी।

आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने भी कहा कि ऑड ईवन पर राजनीति नहीं होनी चाहिए और यह अच्छा कदम है। केजरीवाल के खिलाफ बीजेपी की सीएम कैंडिडेट रही किरन बेदी ने कहा कि अभी स्कीम के बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। इसका असली टेस्ट सोमवार को होगा जब छुट्टी नहीं होगी और वीकेंड खत्म हो जाएगा। साभार: नवभारत टाइम्स


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें