केंद्र की मोदी सरकार में मंत्री रामदास अठावले ने गौरक्षा के नाम पर हो रही हत्याओं की तीखी आलोचना करते हुए गौरक्षक की बजाय नरभक्षक करार दिया है. साथ ही उन्होंने इसके लिए कड़ी सज़ा देने की भी मांग की.

केंद्रीय मंत्री ने गौमांस को लेकर कहा कि देश के प्रत्येक नागरिक को गौमांस खाने का अधिकार है. उन्होंने कहा,  सबको बीफ खाने का अधिकार है. बकरी का मांस महंगा होता है, इसलिए लोग बीफ खाते हैं. मैं नागपुर घटना की निंदा करता हूं. गौ-रक्षक के नाम पर नर-भक्षक बनना सही नहीं है.

इसी के साथ उन्होंने अपनी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया का रुख साफ़ करते हुए कहा कि यदि गौरक्षक आगे भी हिंसा नहीं छोड़ते है तो उनकी पार्टी के कार्यकर्ता सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन करेंगे.

अठावले ने कहा, अगर कोई बीफ खाना चाहता है, तो यह उसका व्यक्तिगत अधिकार है. आज, गाय की सुरक्षा के नाम पर गौरक्षक मांस या जानवरों को ले जाने वाले लोगों का वाहन रोकते हैं और उन्हें मारते हैं. ऐसी हिंसा में कई निर्दोष लोगों की जान भी जा चुकी है. यह ठीक नहीं है और इसकी अनदेखी नहीं की जा सकती है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE