kapil

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लाल किला से किए वादों को पूरा नहीं करने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि उन्होंने पिछले स्वतंत्रता दिवस पर महिलाओं और किसानों को सुरक्षा देने और सांप्रदायिक सौहार्द बढ़ाने की बात कही थी लेकिन इन वादों को पूरा करने में उनकी सरकार असफल साबित हुई है.

कांग्रेस प्रवक्ता कपिल सिब्बल ने यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मोदी लाल किले की प्राचीर से कहते हैं कि लड़कियों को भी लड़कों की तरह घर से बाहर निकलना चाहिए. सिब्बल ने कहा कि यह भाषण सुनकर महिला सुरक्षा के लिए उनकी प्रतिबद्धता अटूट प्रतीत होती है लेकिन देश में महिलाओं के उत्पीडऩ की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं.

और पढ़े -   सुब्रमण्यम स्वामी ने की हिन्दुओं से अपील - मुस्लिमों में डाले फुट, करे एकता को खत्म

ऐसी स्थिति में लाल किला की प्राचीर से किए गए वादों का महत्व ही क्या रह जाता है. उन्होंने कहा कि सांप्रदायिक सौहार्द की बात करने वाली मोदी सरकार की असलियत यह है कि इस साल अब तक सांप्रदायिक दंगों की 78 घटनाएं हुई हैं. इसी तरह से वर्ष 2015 में 751 सांप्रदायिक घटनाएं हुई तथा 2014 में 644 घटनाएं हुई थीं.

और पढ़े -   टोल मांगने पर प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष का जवाब, मैं सांसद हूँ और टोल फ्री भी

सिब्बल ने कहा कि किसान हित की बात करने वाली मोदी सरकार के शासन के दौरान 2014 में देश में 2115 किसानों ने आत्महत्या की थी जो 2015 में बढकर 2997 हुई है. सरकार के आंकडे कहते हैं इस साल अब तक देश में 363 किसानों ने आत्महत्या की है लेकिन महाराष्ट्र की भाजपा सरकार का कहना है कि अकेले मराठवाड़ा के आठ जिलों में 400 किसानों ने आत्महत्या की है.

और पढ़े -   म्यांमार में तो हिन्दू भी मारे जा रहे, मोदी सरकार उन्हें ही बचा कर ले आए: ओवैसी

सिब्बल ने कहा, ‘लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री के वादे का क्या मतलब? उन्होंने अपने वादे न तो आंशिक और न ही सम्पूर्ण रूप से पूरे किए हैं.’


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE