जदयू सांसद और वरिष्ट नेता शरद यादव ने तीन तलाक के मुद्दे पर मोदी सरकार को लताड़ लगाते हुए कहा कि सरकार को समाज सुधारक नहीं बनना चाहिए.

उन्होंने कहा कि सरकार समाज सुधारने का काम न करें. हर धर्म में कुछ न कुछ खराबियां है. ऐसे में केवल एक धर्म या वर्ग की खराबी बताना सही नहीं है.

सांसद ने आगे कहा कि हिंदू धर्म में भी कई खामिया है. जाति के आधार पर भेदभाव बहुत है. इसे रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है. जाति व्यवस्था की वजह से देश की औरतें और बेटियां आज भी आदमियों की गुलाम बनी हुई हैं.

हालांकि उन्होंने तीन तलाक का मामला अदालत में लंबित होने से कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा कि  तीन तलाक का मामला फिलहाल अदालत में है और ऐसे में मेरे कुछ भी कहने का कोई खास मतलब नहीं है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE