mehbuba

उडी हमले के विरोध में केंद्र की मोदी सरकार ने पाकिस्तान के साथ सिंधु जल समझौते को रद्द करने की और इशारा दिया हैं. ऐसे में बीजेपी के साथ जम्मू-कश्मीर में सत्ता में बेठी पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) ने मोदी सरकार के इस फैसले का विरोध करना शुरू कर दिया हैं.

इस बारें में पीडीपी के वरिष्ठ नेता मुजफ्फर हुसैन बेग का कहना हैं  कि इस संधि के किसी भी उल्लंघन का भारत को भी उतना ही नुकसान होगा जितना की पाकिस्तान को. उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तान की और जाने वाले पानी को रोकने से कश्मीर घाटी डूब जायेंगी और बाड़ के हालात पैदा होंगे.

और पढ़े -   राजनाथ सिंह: रोहिंग्याओं को वापस लेने के लिए म्यांमार तैयार, अब आपत्ति क्यों ?

बेग ने आगे कहा कि यह संधि भारत और पाकिस्तान के लिए बराबर है. क्योंकि जिस तरह ये तीन नदियां भारत में बहती हैं उसी तरह अन्य तीन पाकिस्तान में भी बहती हैं. अगर इस समझौते को रद्द किया जाता हैं तो नुकसान भी दोनों तरफ बराबर होगा.

उन्होंने आगे कहा, सिंधु परियोजना वर्ल्ड बैंक की और से शुरू हुई थी. जिसकी वजह से भारत के लिए इसे बरकरार रखना महत्वपूर्ण है. ऐसा न करने पर भारत की अंतरराष्ट्रीय छवि पर असर पड़ेगा.

और पढ़े -   मोदी के दलित मंत्री ने उठाई सवर्ण जातियों को आरक्षण देने की मांग

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE