बसपा सुप्रीमो मायावती ने बजरंग दल द्वारा प्रदेश के विभिन्न जि़लों में आयोजित किये जाने वाले हथियारों के प्रशिक्षण शिविरों पर तत्काल प्रतिबन्ध लगाने और आयोजनकर्ताओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है. मायावती ने जारी बयान में कहा कि, ‘‘ऐसे भड़काऊ, घोर साम्प्रदायिक एवं ग़ैर-कानूनी मामलों में भी सपा सरकार की निष्क्रियता यह साबित करती है कि उत्तर प्रदेश में चुनावी लाभ लेने के लिए वह भाजपा से मिलकर दंगा भड़काना चाहती है।’’

मायावती ने ऐसे आयोजनों का बचाव करने के लिए राज्यपाल राम नाईक की भी आलोचना की है। उन्होंने कहा, ”उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक द्वारा बजरंग दल के इस प्रकार के शिविरों के आयोजन के समर्थन में दिया गया बयान अत्यधिक चिन्ताजनक है। इस सम्बन्ध में राज्यपाल महोदय को संविधान की मर्यादा के दायरे में रहकर काम करना चाहिये।’’
उन्होंने आगे कहा कि सोचने की असल बात यह है कि समाज के हर वर्ग को या फिर व्यवस्था से दु:खी व पीड़ित लोगों को, अपनी-अपनी सोच को लेकर अगर खुलेआम शस्त्र की ट्रेनिंग लेने और देने की इजाज़त दे दी जायेगी तो फिर समाज और देश का क्या होगा।
और पढ़े -   मोदी और आरएसएस चाहते हैं कि भारत अपनी आवाज ‘सरेंडर’ कर दे: राहुल गांधी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE