नई दिल्ली | संसद के मानसून सत्र के दूसरे दिन राज्यसभा में जमकर हंगामा हुआ. सहारनपुर दंगो पर अपनी बात रखते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती ने योगी सरकार पर जमकर हमला बोला. इस दौरान उनको उपसभापति ने अपनी बात जल्दी खत्म करने के लिए कहा तो वो नाराज हो गयी. मायावती ने उपसभापति पर आरोप लगाया की वो उन्हें बोलने नही दे रहे है. इसके बाद उन्होंने राज्यसभा से इस्तीफा देने की घोषणा कर दी.

दरअसल मंगलवार को राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होते ही मायावती ने सहारनपुर में हुए दंगो के ऊपर अपनी बात रखनी शुरू की. उन्होंने इसे केंद्र की साजिश करार देते हुए कहा की देश में दलित और कमजोर तबके का उत्पीडन किया जा रहा है. इसी बीच उपसभापति पीजे कुरियन ने उन्हें अपनी बात जल्द खत्म करने के लिए कहा जो मायावती को नागवार गुजरा और वो भड़क गयी.

और पढ़े -   शरद यादव के साथ 20 विधायक, कभी भी गिरा सकते है नितीश सरकार

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा की मुझे सदन में बोलने से रोका जा रहा है. मायावती ने सदन में ही इस्तीफा देने की धमकी देते हुए वाकआउट कर दिया. मायावती के समर्थन में पुरे विपक्ष ने भी सदन से वाकआउट कर दिया. वाकआउट करने से पहले कांग्रेस सांसद गुलाब नबी आजाद ने कहा की अगर सरकार को दलित, किसान और अल्पसंख्यको की लिंचिंग करने के लिए बहुमत मिला है तो हम सरकार के साथ नही है.

और पढ़े -   गोरखपुर हादसे पर बोले अमित शाह: देश में पहली बार ऐसा नहीं हुआ, जन्माष्टमी का त्योहार मनाएंगे

उधर सदन से बाहर आकर मायावती ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा की पुरे देश में दलित और कमजोर वर्ग का उत्पीडन हो रहा है, उन पर अत्याचार हो रहा है. अगर ऐसे में भी मैं अपने समाज की बात सदन में नही रख पाती तो मुझ पर लानत है. इसलिए मैंने राज्यसभा सदस्यता से इस्तीफा देने का फैसला किया है. मायावती ने आगे कहा की यूपी में महागुंडाराज और जंगलराज चल रहा है. फ़िलहाल राज्यसभा को 2 बजे तक के लिए स्थगित किया गया है.

और पढ़े -   मोदी सरकार की बजट कटौती के चलते गई गोरखपुर में बच्चों की जान: राहुल गांधी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE