1994 के बाद आज पहली बार मायावती सड़क मार्ग से दिल्ली से सहारनपुर यात्रा पर निकली. इस दौरान वे जातीय हिंसा से झुलसे सहारनपुर के शब्बीरपुर गांव भी पहुंची.

इस दौरान मायावती ने कहा, ’सहारनपुर के जिस गांव में वर्तमान में जो घटना घटी है वो दुर्भाग्यपूर्ण है. यूपी में बीजेपी की सरकार जातिवादी सरकार है. चाहे वो दलित वर्ग के लोग हों या अन्य पिछड़ी जाती के लोग हों. बीजेपी की सरकार उनके साथ पक्षपात का रवैया अपना रही है.’

और पढ़े -   सड़कों पर शादियों से परहेज नहीं, आखिर नमाज से क्यों: अखिलेश यादव

उन्होंने कहा, ‘’सहारनपुर की ये घटना सिर्फ जातिवादी और पक्षपाती रवैये की वजह से घटी है. इसके लिए बीजेपी की सरकार जिम्मेदारी है.’’ उन्होने प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भेदभाव पूर्ण नीति के साथ काम किया जा रहा है और सरकार अपने वायदो पर खरी उतरती नजर नही आ रही है.

पार्टी कार्यकर्ताओ ने मेरठ रोड पर अनेक स्थानो पर अपनी नेता का स्वागत किया तथा जमकर नारेबाजी की. इस दौरान बसपा जिलाध्यक्ष शिवकुमार, पूर्व सांसद कादिर राणा, पूर्व विधायक अनिल कुमार, पूर्व विधायक नूरसमील राणा उर्फ पप्पू राणा, समेत अनेक लोग मौजूद थे.

और पढ़े -   गुजरात में बीजेपी विधायक की मांग, हिन्दू इलाके में मुस्लिमो को घर खरीदने की नही मिले इजाजत

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE