akhilesh

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने खनऊ में स्मार्टफोन योजना के पंजीयन के वेब पोर्टल के उद्घाटन के अवसर पर बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती पर हमला करते हुए कहा कि जनता बसपा और बीजेपी की दोस्ती के पुराने उदाहरणों को अब तक नहीं भूली है.

उन्होंने कहा, “वह (मायावती) कहती हैं कि समाजवादी पार्टी के लोगों में बंटवारा है, लेकिन मुस्लिम भाई जानते हैं कि समाजवादी पार्टी उनके कितने करीब है… हम लोग भूले नहीं हैं अभी… वह रक्षाबंधन वाला त्योहार कोई नहीं भूला है कि किसने किसको राखी बांधी थी… वह गुजरात वाली बातें नहीं भूले हैं कि कौन जाकर किसके लिए वोट मांगकर आया था…”

और पढ़े -   कांग्रस राहुल गाँधी से कर सकती है किनारा, मोदी के सामने किसी और नेता को बनाया जा सकता है चेहरा

अखिलेश यादव ने चुनौती देते हुए कहा, “क्या मायावती जी यह दावा कर सकती हैं कि कल को अगर बहुमत की सरकार नहीं बनी तो क्या बीजेपी और बसपा मिलकर सरकार नहीं बना लेंगी… उत्तर प्रदेश की जनता कैसे भरोसा करेगी…?”

उन्होंने आगे कहा, “लोग कह रहे हैं कि वे जनता को नकदी देंगे… अरे, आपका तो नकदी का पुराना शौक है… उत्तर प्रदेश के लोग अभी तक नहीं भूले हैं कि कैसे सीएमओ और एक इंजीनियर को मार दिया गया था… जन्मदिन के नाम पर कहां वसूली नहीं होती है… आपने अपने ही लोगों को गुमराह किया है और अब प्रदेश को गुमराह करना चाहती हैं…”

और पढ़े -   मायावती चाहेंगी तो हम बिहार से उन्हें दोबारा राज्यसभा भेजेंगे: लालू प्रसाद यादव

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE