बसपा प्रमुख मायावती ने यूपी में सत्तारूढ़ सपा सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। मायावती ने बुधवार को पार्टी मुख्यालय में हुई बैठक में ये आरोप लगाए। मायावती ने इस बैठक में कहा कि जिला पंचायत अध्यक्ष, ग्राम प्रधान आदि चुनावों की तरह ही ब्लॉक प्रमुख चुनाव में सपा के लोगों ने जमकर गुंडई की है। मायावती ने कहा कि सपा के गुंडों, बदमाशों और उच्च पदों पर बैठे लोगों ने इन चुनावों ने खुद दबंगई, फायरिंग और अपहरण करवाए।

'सपा के गुंडों ने ब्लॉक प्रमुख चुनावों में की बड़ी धांधली'सपा के गुंडों ने लोगों को कुछ जगह नामांकन तक करने के लिए रोका। सपा ने सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग करते हुए पूरी तरह से इस चुनाव को अपने पक्ष में करने का प्रयास किया। मायावती ने आगे बोलते हुए कहा कि ब्लॉक प्रमुख चुनाव में हुई इस धांधली के संबंध में दो-चार घटनाओं को छोड़कर कही रिपोर्ट भी नहीं लिखी गई। यूपी में प्रशासनिक अधिकारी और पुलिस मशीनरी भी सपा के आगे नतमस्तक होने पर मजबूर हैं।

और पढ़े -   मोदी और आरएसएस चाहते हैं कि भारत अपनी आवाज ‘सरेंडर’ कर दे: राहुल गांधी

बसपा की इस बैठक में पार्टी के जिम्मेदार लोगों ने अपने-अपने क्षेत्र की दयनीय कानून-व्यवस्‍था, विकास की परेशानियों को भी बताया।  मायावती ने बताया कि जिला पंचायत के सदस्यों के लिए पहले हुए चुनाव में उत्तर प्रदेश की जनता ने सीधे तौर पर भाग लिया और इन चुनावों में बसपा को जनता ने यूपी की नंबर एक पार्टी बनाकर उभारा।  मगर स्‍थानीय निकाय के तहत अप्रत्यक्ष चुनाव में आम जनता की सीधे भागीदारी नहीं था। सपा की सत्ता ने सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया।

और पढ़े -   जब नरेश अग्रवाल की बातो पर ठहाके लगाके हंसने लगे पीएम मोदी, विडियो वायरल

मायावती ने कहा कि यूपी की जनता पहले ही सपा सरकार की जातिगत नीति, कानून-व्यवस्‍था और जंगलराज से दुखी और परेशान है। अब स्‍थानीय निकायों के चुनाव में इस तरह की धांधली के बाद उनका दुख और भी ज्यादा बढ़ जाएगा।

सपा पर आरोप लगाते हुए बसपा सुप्रीमों ने कहा कि अगले महीने स्‍थानीय निकाय क्षेत्र से विधान परिषद की 36 सीटों के लिए चुनाव होने वाले हैं, उसके लिए सपा के घोषित प्रत्याशियों से भी सपा ने जातिवादी, अपराधिक और पारिवारिक पार्टी होने की छवि को बल मिलता है। इस तरह से सपा सरकार प्रदेश की क्या दुर्दशा करेगी इसका अंदाजा भी लगाया जा सकता है।

और पढ़े -   हिन्दू संत-महंतों के लिए कांग्रेस ने किया सेल का गठन, पार्टी में ही उठने लगी विरोध की आवाज

बसपा की इस बैठक में बताया गया कि 15 मार्च को बसपा के संस्‍थापक मान्यवर कांशीराम के जन्मदिन को बड़े पैमाने पर बनाया जाएगा। इस मौके पर पूरे प्रदेश से बसपा कार्यकर्ता लखनऊ में इकट्ठे होकर उन्हे श्रद्घांजलि देंगे। मायावती ने इस बैठक में चुनावी तैयारियों को लेकर समीक्षा भी की। (अमर उजाला)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE