राष्ट्रीय जनता दल के 20वां स्थापना दिवस पर पार्टी प्रमुख लालू यादव ने देश के मौजूदा हालात की तुलना आपातकाल से करते हुए कहा कि जब से मोदी सरकार आई है देश खतरनाक दौर से गुजर रहा है और यहां अघोषित आपातकाल के हालात हैं.

उन्होंने कहा कि  राम और रहीम के नाम पर देशभर में नफरत फैलाई जा रही है. लोगों को धर्मों के आधार पर बांटा जा रहा है. गाय के नाम पर जान ली जा रही है. जिसके चलते जानवरों का बाजार लगना तक बंद हो गया है. लालू ने एनडीए के राष्‍ट्रपति उम्मीदवार रामनाथ कोविंद की उम्मीदवारी पर सवाल उठाते हुए कहा कि वे दलित नहीं है. वो कोली जाति से आते हैं और गुजरात में चुनाव है इसलिए उन्हें उम्मीदवार बनाया गया है ताकि 18 फीसदी वोट मिल सके.

इस दौरान उन्होंने कहा कि अगर अखिलेश और मायावती मिल जाये तो 2019 में बीजेपी का मैच ओवर हो जाएगा. उन्होंने कहा, कहा कि ‘अखिलेश और मायावती के एक साथ जुटने की संभावना भी है.’ ऐसे में भाजपा अपने विरोधियों के परिवार पर हमला करके उन्हें बदनाम करने की कोशिश कर रही हैं.

इस दौरान लालू यादव ने कहा कि चाहे रॉबर्ट वाड्रा हों, प्रियंका गांधी हों, अरविंद केजरीवाल हों, ममता बनर्जी हैं या लालू प्रसाद यादव का परिवार. उनपर हमले करके उन्हें तोड़ने की कोशिशें की जा रही हैं. ऐसा होने वाला नहीं है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE