कोलकाता | पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और भारतीय जनता पार्टी के बीच की तल्खी कम होने का नाम नही ले रहा है. बल्कि अगर यह कहा जाए की यह दिनों दिन बढ़ रही तो कोई अतिशयोक्ति भी नही होगी. बीजेपी बंगाल में अपनी जमीन तलाश रही है इसके लिए अमित शाह कई बार बंगाल का दौरा कर चुके है. वही तृणमूल कांग्रेस भी अपनी जमीन को जकड़कर रखने का पूरा प्रयास कर रही है.

इसी उधेड़बुन में बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के बीच तनाव अपने चरम पर पहुँच चुका है. जिसकी वजह से बीजेपी और तृणमूल के कार्यकर्ताओ के बीच कई हिंसक झडपे भी हो चुकी है. अब ममता बनर्जी ने दोनों पार्टियों के बीच उत्पन तनाव को और बढाते हुए घोषणा की है की वो 9 अगस्त में पुरे देश के अन्दर बीजेपी भारत छोड़ो आन्दोलन शुरू करेगी. ममता ने ललकारते हुए कहा की वो देश से बीजेपी को खदेड़ देंगी.

और पढ़े -   महिला आरक्षण बिल: सोनिया की पीएम मोदी को चुनौती, लोकसभा में है बहुमत पास करवा कर दिखाए

शुक्रवार 21 जुलाई को कोलकाता में शहीद दिवस रैली में ममता बनर्जी ने बीजेपी के खिलाफ बिगुल बजाते हुए कहा की वो 9 अगस्त से बीजेपी के खिलाफ देशव्यापी आन्दोलन शुरू करेगी. इस आन्दोलन को बीजेपी भारत छोड़ो नाम दिया गया है. दरअसल 9 अगस्त को ही महात्मा गाँधी ने अंग्रेजो के खिलाफ भारत छोड़ो आन्दोलन की शुरुआत की थी. इसलिए ममता ने इस तारीख को बीजेपी के खिलाफ मुहीम छेड़ने के लिए चुना.

और पढ़े -   अमेरिका में बोले राहुल - असहिष्णुता और बेरोजगारी के चलते देश खतरे में जा रहा

पश्चिम बंगाल में शक्ति प्रदर्शन कर रही ममता बनर्जी ने कोलकाता के धर्मतल्ला में एक विशाल रैली का आयोजन किया. इस रैली में ममता ने बीजेपी को देश से खदेड़ने की भी शपथ ली. बताते चले की तृणमूल कांग्रेस हर साल 21 जुलाई को शहीद दिवस मनाती है. क्योकि 21 जुलाई 1993 के दिन ममता बनर्जी ने राइटर्स बिल्डिंग का घेराव किया था. जिसके बाद पुलिस फायरिंग में तृणमूल के 13 कार्यकर्त्ता मारे गए थे. उस फायरिंग में ममता भी घायल हो गयी थी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE