kath

मानव संसाधन विकास मंत्रालय में राज्यमंत्री राम शंकर कठेरिया ने शिक्षा के ‘भगवाकरण’ का समर्थन किया हैं. उन्होंने कहा कि यह देश को गुलामी के काले युग से बाहर निकालने में मददगार साबित होगा. लखनऊ यूनिवर्सिटी में एक कार्यक्रम के दौरान कठेरिया ने कहा, ‘यह देश के भले के लिए हो रहा है और देश के भले के लिए जो भी ठीक होगा, चाहे उसे भगवाकरण कहा जाए या संघवाद वह तो होकर ही रहेगा.

कठेरिया ने आगे कहा, ‘अगर बच्चों को महाराणा प्रताप के बारे में नहीं पढ़ाया जाएगा तो क्या उन्हें चंगेज खान के बारे में पढ़ाया जाना चाहिए. साथ ही कठेरिया ने आरोप लगाया कि भारत के इतिहास को लोगों ने अपनी सहूलियत के हिसाब से काट-छांट दिया है.

कठेरिया ने  इंग्लिश को छोड़कर हिंदी को अपनाने पर भी जोर देते हुए कहा कि ‘शिवाजी ने 17वीं शताब्दी में हिंदी का समर्थन किया था. हमें उनसे सीख लेनी चाहिए.’


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें