bsp-chief-mayawati_650x400_71462198553

बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा उस बयान पर कड़ी आपति जताई जिसमे उन्होंने मेवात गैंगरेप और हत्याकांड की तुलना छोटी से घटना से करते हुए कहा था कि ऐसी घटनाये कहीं पर भी घट सकती हैं.

उन्होंने इस मामलें में प्रधानमंत्री से संज्ञान लेने की मांग करते हुए सोमवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन् मोदी को खट्टर के बयान पर संज्ञान लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि बीजेपी नेतृत्व खासकर प्रधानमंत्री मोदी को इस आपत्तिजनक बयान का नोटिस अवश्य लेना चाहिए, क्योंकि उन्होंने मोदी ने बेटी बचाओ बेटी बढाओ अभियान की शुरूआत हरियाणा राज्य से ही की थी परंतु उनके वहां के मुख्यमंत्री ही स्वयं महिलाओं की आबरू-इज्जत की खास परवाह नहीं कर रहे हैं

और पढ़े -   सपा नेता माविया अली का बयान, पहले हम मुस्लमान , फिर भारतीय

मायावती ने आगे कहा. इस प्रकार के गलत और महिला विरोधी बयानों से भाजपा नेताओं की असली चाल, चरित्र और चेहरा जनता के सामने बेनकाब होता है. उन्होंने कहा कि बलात्कार पीडि़त बहनों के प्रति सहानुभूति का भाव दिखाकर उनकी पीड़ा को कम करने और इंसाफ की उम्मीद बढ़ाने की बजाय हरियाणा के बीजेपी मुख्यमंत्री की इस तरह की गलत बयानबाजी से ही अपराधियों के हौसले बढ़ते हैं.

और पढ़े -   अगले साल विधानसभा चुनावो के साथ ही हो सकते है लोकसभा चुनाव

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई कर इस प्रकार की जघन्य घटनाओं को रोकने की कोशिश करने की बजाय ऐसी घटना को खट्टर द्वारा छोटी मोटी घटनाएं बताना बहुत दुखद और शर्मनाक है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE