नई दिल्ली | आज सुबह एनडीटीवी के सह संस्थापक प्रणव राय के आवास पर हुई सीबीआई रेड ने राजनीतिक रंग लेना शुरू कर दिया है. जहाँ आम आदमी पार्टी ने इस कार्यवाही की निंदा की वही मोदी सरकार ने इसे सीबीआई की स्वतंत्र कार्यवाही करार दिया. उधर एनडीटीवी के पत्रकार रविश कुमार ने भी इस रेड की निंदा की हैं. उन्होंने कहा की फिलहाल सारी मीडिया गोदी-मीडिया बनी हुई है लेकिन हम किसी की गोद में नही खेल रहे है.

पुरे मामले पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने प्रतिक्रिया देते हुए कई ट्वीट किये. उन्होंने लिखा,’ मैं डॉ रॉय पर सीबीआई रेड की कड़ी निंदा करता हूँ, इसके जरिये एक स्वन्त्रत आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है.’ अपने अगले ट्वीट में उन्होंने रविश कुमार की प्रतिक्रिया की एक तस्वीर साझा की जिसमे रविश ने चुनौती दी है की अगर एनडीटीवी को मिटाने की इतनी ही जल्दी है तो आमने सामने आ जाइये.

उधर पुरे मामले पर घिरता देख मोदी सरकार ने केन्द्रीय मंत्री वैंकया नायडू को मैदान में उतारा. बदले की कार्यवाही का आरोप झले रही सरकार की और से सफाई देते हुए वैंकया ने कहा की सीबीआई ने जो कार्यवाही की है उसमे कोई भी राजनितिक हस्तक्षेप नही है और कानून अपना काम कर रहा है. सीबीआई को कोई शिकायत मिली होगी जिसके आधार पर उन्होंने कार्यवाही की.

वैंकया ने आगे कहा की देश में मीडिया स्वतंत्र और आजाद है. लेकीन अगर कोई गलत काम करेगा तो सरकार से सिर्फ इसलिए चुप रहने की अपेक्षा नही की जा सकती की क्योकि वो व्यक्ति मीडिया से सम्बद्ध है. उधर एनडीटीवी ने पुरे मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा की एनडीटीवी और उसके प्रोमोटर पर पुराने और झूठे आरोप लगाकर प्रताड़ित किया जा रहा है. लेकिन हम इसके खिलाफ लड़ेंगे और भारत में लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की आजादी को कमजोर करने की कोशिशो को नाकाम कर इस पर जीत हासिल करेंगे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE